Shivpuriशासन-प्रशासन के कोरोना नियम को ठेंगा दिखा आयोजित हो रही मप्र राज्य...

शासन-प्रशासन के कोरोना नियम को ठेंगा दिखा आयोजित हो रही मप्र राज्य सम्मेलन की कांफ्रेंस / Shivpuri News

शिवपुरी। कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है और मरीजों की संख्या में दिन-प्रतिदिन इजाफा हो रहा है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कड़े कदम उठाए है और उन नियमों का पालन करने की बात सभी से कही है। मामले को लेकर प्रशासन भी सख्त बना हुआ है। वहीं कोरोना के कारण कक्षा 1 से लेकर 12वीं तक के स्कूल 31 जनवरी तक के लिए बंद कर दिए गए हैं। लेकिन वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग हैं जो कोरोना को ठेंगा दिखा अपनी मनमानी करने पर तुले हुए हैं। इनकी मनमानी कोरोना संक्रमण का भयाभय रूप लेकर आ सकती है। अगर समय रहते प्रशासन नहीं चेता तो कोरोना का संकट और भी अधिक बढ़ सकता है।

हम बता दें कि कोरोना काल में मप्र राज्य सम्मेलन द्वारा स्कूल नेतृत्व एवं एनईपी कार्यान्वयन पर एक कार्यशाला होटल मातोश्री में आयोजित की जा रही है। 15 व 16 जनवरी यानि कि दो दिवसीय चलने वाली कार्यशाला में सभी प्रायवेट स्कूल के डायरेक्टर व प्रिंसीपल मौजूद रहेंगे। यह कार्यशाला तीन अलग-अलग शिफ्टों में आयोजित की जाएगी जिसमें चाय-नाश्ते से लेकर भोजन आदि की व्यवस्था भी होगी। कार्यक्रम के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन भी शुरू कर दिए हैं व संपर्क के लिए राजकुमार शर्मा, जितेंद्र कुमार जैन, गजेंद्र शिवहरे के नाम मोबाइल नंबर सहित दिए गए हैं।

कोरोना काल के दौरान इतना बड़ा आयोजन होना कोई छोटी बात नहीं है। अगर यह आयोजन हुआ तो कोरोना संक्रमण का खतरा उत्पन्न हो जाएगा क्योंकि इस कार्यक्रम में भीड़ इकट्ठी होगी जो कि नियमों के सख्त खिलाफ है। सूत्रों के अनुसार यह भी पता चला है कि इस कार्यक्रम आयोजन के लिए किसी भी प्रकार की परमीशन नहीं ली गई है और बिना परमीशन के ही इतना बड़ा आयोजन शहर में किया जा रहा है। एक तरफ प्रशासन पूरी मुश्तैदी के साथ कोरोना संक्रमण की रोकथाम में लगा है वहीं दूसरी तरफ कुछ चुनिंदा लोग शासन-प्रशासन द्वारा बनाए गए नियमों को ठेंगा दिखा आयोजन करने में लगे हुए हैं। मामले को लेकर प्रशासन को जल्द ही सख्त कदम उठाए जाना चाहिए अगर सही समय रहते कार्रवाई नहीं की गई तो कोरोना संक्रमण फैलने का ज्यादा खतरा हो सकता है जिसका जिम्मेदार खुद प्रशासन होगा।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
16FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular