Shivpuriराष्ट्र व समाज निर्माता होते हैं शिक्षक, उनका सम्मान देता है प्रेरणा...

राष्ट्र व समाज निर्माता होते हैं शिक्षक, उनका सम्मान देता है प्रेरणा : पूर्व विधायक प्रहलाद भारती / Shivpuri News

पूर्व विधायक द्वारा शहर के एकी.शास.प्राथ.माध्यमिक विद्यालय छावनी के शिक्षकों का किया गया सम्मान

शिवपुरी-शिक्षक वह होता है जो एक ओर बच्चों का भविष्य निर्माता के रूप में अपने दायित्व का निर्वहन करता है तो वहीं दूसर ओर वही शिक्षक समाज और राष्ट्र का निर्माता भी होता है ऐसे शिक्षकों का सम्मान करना उदारता नहीं बल्कि उनका सम्मान करना प्रेरणा देने का काम करती है, शहर के इस एकीकृत शास.प्राथ.मा.विद्यालय छावनी में मैंने भी अपने बचपन के दिनों में शिक्षा ग्रहण की थी और आज जिस मुकाम पर हूं वह मेरे गुरूओं का आर्शीवाद है इसलिए इस विद्यालय से पुरानी यादें और शिक्षण स्मृति जुड़े होने के कारण यहां पदस्थ शिक्षकों का सम्मान करना मेरे लिए गर्व की बात है। उक्त उद्गार व्यक्त किए पूर्व विधायक प्रहलाद भारती ने जो स्थानीय कोतवाली रोड़ स्थित शहर के एकीकृत शाला के रूप में पहचाने जाने वाले शास.प्राथ.मा.विद्यालय छावनी में आयोजित शिक्षक दिवस सम्मान समारोह कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

 

इस दौरान शिक्षक सम्मान की इस पहल की शुरूआत स्वयं पूर्व विधायक प्रहलाद भारती ने की जिन्होंने इस विद्यालय में अपना बचपन एक छात्र के रूप में शिक्षा अध्यापन के रूप में की और आज इस विद्यालय में कार्यरत अध्यापकों का सम्मान कर वह शिक्षक सम्मान के प्रति अपना आदर भाव जताने यहां पहुंचे। कार्यक्रम की शुरूआत सर्वप्रथम शिक्षक दिवस के रूप में मनाए जाने वाले सर्वपल्ली डॉ.राधाकृष्णन के चित्र पर दीप प्रज्जवलन व माल्यार्प के साथ हुआ।

 

इस दौरान पूर्व विधायक प्रहलाद भारती के द्वारा आयोजित इस शिक्षक सम्मान समारोह कार्यक्रम में विद्यालय के प्रधानाध्यापक अजमेर सिंह यादव, विद्यालय के शिक्षकगण घनश्याम वर्मा, राजकुमार शर्मा, योगेश कुमार मिश्रा, मुकेश गौतम, अरूण श्रीवास्तव, शोभना श्रीवास्तव, गिरिजा श्रीवास्तव, अर्चना शर्मा, मीना श्रीवास्तव, रश्मि श्रीवास्तव, ज्योति जैन व शाहिद बेगम शामिल रहीं जिनका पूर्व विधायक के द्वारा शॉल-श्रीफल व माल्यार्पण करते हुए शिक्षकों का सम्मान किया गया और इस तरह शिक्षक दिवस के अवसर पर अपने शिक्षकों के प्रति आदरभाव प्रकट किया गया। कार्यक्रम का संचालन व आभार प्रधानाध्यापक अजमेर सिंह यादव के द्वारा व्यक्त किया गया।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
17FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular