Shivpuriमहिला बाल विकास विभाग अधिकारी ने ट्रांसफर होने पर कूटरचित दस्तावेज लगाकर...

महिला बाल विकास विभाग अधिकारी ने ट्रांसफर होने पर कूटरचित दस्तावेज लगाकर न्यायालय से लिया स्टे / Badarwas News

कोलारस विधायक ने प्रमुख सचिव भोपाल को शिकायती पत्र भेज कर की हटाए जाने की मांग

बदरवास। शिवपुरी जिले की बदरवास विकासखंड में महिला बाल विकास विभाग की परियोजना अधिकारी फ्रांसिस्का कुजूर के ट्रांसफर होने के बाद कूट रचित गलत दस्तावेज पेश करके न्यायालय से स्टे ले लिया है। यह आरोप लगाते हुए कोलारस विधानसभा के विधायक श्री वीरेंद्र रघुवंशी ने पूरे मामले की शिकायत प्रमुख सचिव भोपाल से की है जिसमें उन्होंने परियोजना अधिकारी को हटाने की मांग की है। विधायक रघुवंशी ने पत्र में उल्लेख किया है कि बदरवास की परियोजना अधिकारी फ्रांसिस्का कुजूर का स्थान तरण 13 जुलाई 2020 को वन स्टॉप सेंटर उमरिया किया गया था। इस पर परियोजना अधिकारी द्वारा हाईकोर्ट ग्वालियर में याचिका क्रमांक: 10292/2020 दायर की थी। उक्त याचिका पर 28 अगस्त 2020 को निर्णय दिया कि याचिकाकर्ता ने अपनी सेवानिवृत्ति की तारीख 30 जून 2021 को होने के कूटरचित दस्तावेज पेश किए थे। इसलिए उनके स्थानतरण पर ग्वालियर हाईकोर्ट न्यायालय से स्टे मिल गया था। कोलारस विधायक ने शिकायती पत्र में उल्लेख किया है कि वर्ष 2018 में राज्य शासन द्वारा कर्मचारियों की सेवा निर्मित आयु 60 से बढ़ाकर 62 वर्ष कर दी गई है। लेकिन फ्रांसिस का कुजूर द्वारा अपने अभ्यावेदन में कोर्ट को गुमराह करते हुए सेवानिवृत्ति दिनांक 31जून 2021 तथा उम्र 59 वर्ष से अधिक बता कर न्यायालय को गलत जानकारी दी गई जबकि उनकी सेवानिवृत्ति 30 जून 2023 को होगी पत्र में यह भी उल्लेख किया गया है कि उक्त परियोजना अधिकारी पर भ्रष्टाचार सहित कई आरोप लग चुके हैं जिसके चलते शासन की योजनाओं का लाभ हितग्राहियों को नहीं मिल पा रहा है इसलिए उनका ट्रांसफर किया जाए।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
17FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular