Fast Samacharआसमान से नीचे गिरी प्रोपर्टी की रेट फिर भी सरकारी रेट में...

आसमान से नीचे गिरी प्रोपर्टी की रेट फिर भी सरकारी रेट में नहीं की कमी


बाजार दर से डेढ से दो गुना तक अधिक है पंजीयन दरें

 
शिवपुरी।
जमीन कारोबार में पिछले तीन चार सालों से जोरदार मंदी का वातावरण बना हुआ
है। प्रोपर्र्टी की दरें आसमान से जमीन में आ गर्ई हैं, लेकिन इसके बाद भी
पंजीयन दरें सरकार द्वारा कम नहीं की गई हैं। सूत्र बताते हैं कि इस बार भी
पंजीयन दरें हालांकि न बढ़ाने का निर्र्णय लिया गया है लेकिन वर्र्तमान
दरें बाजार मूल्य से डेढ़ से दो गुना तक अधिक हैं। सरकारी रेट अधिक होने के
कारण भी जमीन कारोबार प्रभावित हो रहा है। नागरिकों ने बाजार मूल्य के
हिसाब से पंजीयन की दरें कम करने की मांग की है।
प्राप्त जानकारी के
अनुसार सिंहनिवास में सड़क से भीतर की प्लॉट की दरें 100 से 150 रूपए प्रति
वर्र्ग फिट से अधिक नहीं है। कृषि भूमि की रेट 10 लाख से 12 लाख रूपए
प्रति हेक्टर से ज्यादा नहीं है जबकि 27 लाख रूपए प्रति हेक्टर की दर से
रजिस्टार ऑफिस में रजिस्ट्री होती है। प्लॉट की दर भी 300 रूपए से 400 रूपए
प्रतिवर्र्ग फिट सरकारी रिकॉर्ड में हैं। मनियर में वायपास रोड़ पर व रोड़
के अंदर 150 से 200 रूपए प्रतिवर्ग फिट के हिसाब से भूमि मिल रही है और
चार साल से लगातार मंदी का दौर चल रहा है। बताया जाता है कि जमीन की दरों
में 40 से 45 प्रतिशत की कमी आर्ई है। मनियर से सिंहनिवास रोड़ पर कृषि
भूमि 15 से 20 लाख रूपए प्रति हेक्टर की दर से मिल रही है। जबकि सरकारी रेट
इससे कहीं अधिक है।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
15FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular