Fast Samacharसरकारी ऑफिसों में रिश्वत का खुला खेल, नहीं मिले रुपए तो बाबू...

सरकारी ऑफिसों में रिश्वत का खुला खेल, नहीं मिले रुपए तो बाबू ने फाड़ दिए कागज / Shivpuri News

शिवपुरी। जनपद पंचायत में स्ट्रीट वेंडर योजना के तहत आए आवेदन को बाबू ने इसलिए फाड दिया क्योंकि युवक ने दो हजार रुपए रिश्वत में नहीं दिए। यह आरोप पीड़ित नीलम जाटव लऊआ जाटव निवासी खोरघार ने बाबू पर लगाया है। वहीं बाबू ने आरोपों को रिसे से खारिज कर दिया है।

पीड़ित नीलम का आरोप है कि बाबू शैलेंद्र सिंह परमार द्वारा एक माह से परेशान किया जा रहा था। जब मैंने दो हजार रुपए नहीं दिए तो उसने मेरे हाथ से कागज छीनकर फाड़ दिए। नीलम ने बाबू पर कार्रवाई की मांग की है।

इधर, बाबू बोला- फंसाने के लिए नीलम ने ही अपने हाथों से आवेदन फाड़ा है
वहीं जनपद में पदस्थ बाबू शैलेंद्र सिंह परमार का कहना है युवक द्वारा झूठा आरोप लगाया जा रहा है। उनका कहना है कि मुझे फंसाने के लिए नीलम जाटव मेरे पास आवेदन लेकर आया था, जिस पर मैंने कहा कि कार्रवाई की जाएगी। लेकिन नीलम द्वारा मुझे फंसाने के लिए स्वयं ही अपने हाथों से आवेदन फाड़ दिया है। बाबू ने कहा कि आप चाहें तो मेरे कार्यालय के अन्य कर्मचारियों से भी आप पूछ सकते हैं। आरोप गलत हैं।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
15FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular