Shivpuriथाने से दुल्हान की विदाई:वर पक्ष ने नहीं की रुकने की व्यवस्था,...

थाने से दुल्हान की विदाई:वर पक्ष ने नहीं की रुकने की व्यवस्था, स्वागत सत्कार में रखी कमी तो बेटी की विदाई से किया इंकार / Shivpuri News

देहात क्षेत्र के महलसराय में हुए विवाह समारोह में वर-पक्ष और वधु पक्ष आमने सामने हो गए। बात यहां तक पहुंच गई कि दुल्हन की विदाई तक अटक गई। आरोप था कि वर पक्ष ने ललितपुर से आए दुल्हन के परिवार और रिश्तेदारों के स्वागत-सत्कार में कमी कर दी। यहां तक कि उनके रुकने की व्यवस्था तक नहीं की। इसी से गुस्साए दुल्हन के परिवारवालों ने शादी के बाद बेटी को विदा करने से मना कर दिया। मामला पुलिस तक पहुंचा। काफी जद्दोजहद के बाद टीआई ने थाने से दुल्हन की विदाई करवाई।

रिश्तेदारों ने कर दिया हंगामा
जवाहर कॉलोनी बीटीआई के पीछे रहने वाले जोशी परिवार के संजय जोशी का विवाह ललितपुर की रहने वाली युवती से तय हुआ था। दोनों के बीच तय हुआ कि वधु पक्ष विवाह करने शिवपुरी आएगा। व्यवस्था वर पक्ष करेगा। इसके बाद रविवार को विवाह कार्यक्रम शुरू हुआ। शाम तक ललितपुर निवासी वधु पक्ष 200 लोगों को लेकर शिवपुरी आ गए, लेकिन वर पक्ष ने वधु पक्ष के ठहरने का उचित इंतजाम नहीं किया। इसे लेकर पहले दोनों पक्षों में ठन गई। इसके बाद स्वागत-सत्कार को लेकर विवाद हो गया।

 

रात को ही शराब पीने के बाद दोनों पक्षों में बहस हुई। मामला थाने तक पहुंच गया। किसी तरह रिश्तेदारों व पुलिस की समझाइश के बाद मामला शांत हुआ और रस्में पूरी हुईं। जब बात रात को सोने की आई, तो उन्हें न तो सोने के लिए स्थान मिला और न ही ओढने-बिछाने के लिए बिस्तर। इस पर वधु पक्ष का धैर्य टूट गया। वहां जमकर हंगामा हो गया। हंगामा इतना बढ़ा कि वधु और वर पक्ष के लोग थाने आ गए। जहां वधु पक्ष के लोगों ने दुल्हन की विदा करने से इंकार कर दिया।

घंटों तक चले इस हंगामे के बाद पुलिस ने दोनों पक्षों के वरिष्ठजनों को बैठाकर बातचीत की। देर तक पुलिस ने दोनों को समझाने का प्रयास किया। दोनों पक्ष अड़े रहे। अंत में पुलिस ने दोनों पक्षोंं पर कायमी करने की बात कही, तो उन्होंने राजीनामा करना उचित समझा। समझौते के बाद वधु पक्ष विदा करने के लिए राजी हुआ। टीआई विकास यादव ने थाने से ही दुल्हन की विदाई करवाई।

देहात थाना टीआई विकास यादव का कहना है कि दोनों पक्षों के रिश्तेदारों में शराब पीने के बाद कहासुनी हो गई थी। जैसे-तैसे रात को मामला सुलझवाया। सुबह दोनों पक्ष फिर से आ गए। लड़की वाले विदा करने से मना करने लगे। काफी प्रयास के बाद दोनों पक्षों में राजीनामा हुआ। आखिर में थाने से ही विदाई करवाई गई।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
16FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular