Khaniyadhanaईओडब्लू की कार्यवाही : 3 लाख मांगने वाला रोजगार सहायक 30...

ईओडब्लू की कार्यवाही : 3 लाख मांगने वाला रोजगार सहायक 30 हजार लेते ईओडब्ल्यू ने किया रंगे हाथों गिरफ्तार / Khaniyadhana News

– मनरेगा के मस्टर भरने के एवज में की थी 4 लाख 30 हजार की मांग
-सरपंच के देवर से कमीशन की दूसरी किस्त के तौर पर ले रहा था 30 हजार

-ईओडब्ल्यू की लगातार जिले में तीसरी बड़ी कार्यवाही

-गौशाला, सड़क, पंचायत भवन, पौध रोपण से लेकरअन्य कामों के बदले मांगा था 5 परसेंट कमीशन
खनियाधाना :-
भ्रष्टाचार को लेकर विजिलेंस के प्राइम टारगेट पर आये शिवपुरी जिले में आज ईओडब्ल्यू की टीम ने शिवपुरी जिले के खनियाधाना तहसील अंतर्गत ग्राम पंचायत मुहारी कला के रोजगार सहायक राघवेंद्र लोधी को मनरेगा के कार्यों के मस्टर भरने के एवज में महिला सरपंच के देवर बृजपाल लोधी से 30000 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।
रोजगार सहायक द्वारा ग्राम पंचायत की महिला सरपंच अभिलाषा लोधी से मनरेगा से प्रचलित विकास कार्यों के मस्टर भरने के एवज में 5 प्रतिशत कमीशन के तौर पर 4 लाख 30000 की मांग की जा रही थी। बाद में इनके बीच 300000 में लेनदेन तय हो गया था। कार्रवाई के संबंध में ईओडब्लू इंस्पेक्टर यशवंत गोयल और भीष्म तिवारी ने दी संयुक्त जानकारी में बताया कि यह कार्यवाही एसपी अमित सिंह के निर्देशन में शिकायत के आधार पर की गई है। उन्होंने बताया कि ईओडब्ल्यू को महिला सरपंच के परिजनों द्वारा शिकायत की गई थी कि रोजगार सहायक राघवेंद्र लोधी द्वारा ग्राम पंचायत के खरंजा, पंचायत भवन निर्माण, वृक्षारोपण, गौशाला की रोड निर्माण तथा गौशाला निर्माण के मनरेगा से प्रचलित कार्यों के एवज में 5 प्रतिशत कमीशन के तौर पर 430000 रुपए की मांग की जा रही है बाद में 300000 में रोजगार सहायक मनरेगा के कार्यों के मस्टर भरने के लिए तैयार हो गया। ईओडब्लू टीम द्वारा इनके बीच हुई लेनदेन की चर्चा को रिकॉर्ड कराया जिस पर से टीम गठित कर कार्रवाई के निर्देश दिए गए। महिला सरपंच का देवर बृजपाल लोधी 10000 रुपए की पहली किस्त रविवार को ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक राघवेंद्र लोधी को दे चुका था दूसरी किस्त सोमवार को आज दोपहर ग्राम पंचायत भवन में दी जाना थी जो ईओडब्ल्यू के संज्ञान में थी जैसे ही 30000 की दूसरी किस्त बतौर रिश्वत रोजगार सहायक राघवेंद्र लोधी के हाथ में महिला सरपंच अभिलाषा के देवर ब्रजपाल ने रखी वैसे ही ईओडब्ल्यू की टीम ने इसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

इस कार्यवाही में ईओडब्लू की ओर से यशवंत गोयल, भीष्म तिवारी, योगेंद्र दुबे, घनश्याम सिंह भदोरिया, जयसिंह यादव आरक्षक विशाल माने तथा नरेश शामिल रहे। गिरफ्तार किए गए रोजगार सहायक के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
16FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular