Shivpuriसरपंच-सचिव के भ्रष्टाचार की शिकायत करना भाई को पड़ गया महंगा, लाठी,...

सरपंच-सचिव के भ्रष्टाचार की शिकायत करना भाई को पड़ गया महंगा, लाठी, तलवार से हमला कर किया मरणाासन्न, पुलिस भी नहीं सुन रही / Shivpuri News

 

शिवपुरी। साहब…! मेरे छोटे भाई को सरपंच-सचिव के भ्रष्टाचार की शिकायत करना महंगा पड़ गया। शिकायत निराकरण के लिए भाई को बुलाकर उसकी तलवार, लाठी व बंदूक की बटों से मारपीट कर दी जिससे वह मरणासन्न िस्थति में पहुंच गया। मामले की जानकारी लगते ही हम मौके पर पहुंचे और भाई को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी हालत खराब बनी हुई है। वहीं मामले में पुलिस ने अपराधियों की ओर से शिकायत दर्ज कर ली और हमारी कोई सुनवाई नहीं की।

विजयसिंह यादव निवासी ग्राम खिसलौनी ने एसपी को अपनी फरियाद सुनाते हुए बताया कि उसका छोटा भाई सिंग्राम सिंह 27 अक्टूबर को जब अपनी भमि पर काम कर रहा था तभी वहां सहायक सेकेट्री तुलसीराम यादव एवं अन्य पंचायत कर्मचारी का फोन आया और कहा कि तुमने जो शिकायत की थी उसका आज निराकरण होना है, तुम तुरंत ग्राम कचनारिया स्कल पर आ जाओ। जिस पर सिंग्रामसिंह सुबह 10 बजे कचनारिया स्कूल पर पहुंचा तो वहां पूर्व से ही ग्राम पंचायत सुनावलदेवरी का सचिव दीवानसिंह यादव एवं ग्राम पंचायत खिसलोनी का रोजगार सहायक तुलसीराम यादव, दीवानसिंह यादव का भाई कल्लन यादव एवं छुट्टन यादव व दीवानसिंह यादव के साथी बवीर यादव, रविंद्र यादव निवासी ग्राम कचनारिया तलवार, कुल्हाडत्री लाठी एवं ंदक से लैस थे तथा भाई को घेर कर गाली-गलौंज करते हुए लाठी, तलवार व बंदूक से हमला कर दिया और मारने-पीटने लगा। जब उसका भाई बेहोश हो गया तो उसे मरा समझकर भाग गए। मामले की जानकारी मिलते ही मैं मौके पर पहुंचा और भाई को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया जब श्किायत करने बामौरकला थाने पहुंचे तो हमारी शिकायत दर्ज न करते हुए अपराधियों की ओर से हम पर ही उल्टा केस दर्ज कर लिया गया।

युवक ने बताया कि दीवानसिं हयादव स्वयं अन्य ग्राम का पंचायत का सचिव है एवं पूर्व में प्रार्थी के ग्राम का ही सचिव था तथा वर्तमान में दीवानसिंह यादव की मां ग्राम पंचायत खिसलोनी की ही सरपंच भी है तथा दीवानसिंह यादव स्वयं व इसका संपूर्ण परिवार अत्यंत ही दबंग किस्म का है। पूर्व में भाई सिंग्रामसिंह यादव द्वारा दीवानसिंह द्वारा किए गए भ्रष्टाचार की शिकायत की गई थी तब से ही दीवानसिंह यादव कके भाई एवं परिवार से दुर्भावना रखता है एवं रंजिशन भाई सिंग्रामसिंह यादव को जान से मरने की मंशा से उक्त हमला किया गया है। वहीं मामले में हमारे पुलिस ने काई सुनवाई नहीं की बल्कि अपराधियों की सुनवाई की। इसलिए मामले में उचित कार्रवाई करवाएं।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
16FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular