Shivpuriइंजीनियर की नौकरी छोड़कर शुरू की फैशन डिजाइनिंग की पढ़ाई, देशभर में...

इंजीनियर की नौकरी छोड़कर शुरू की फैशन डिजाइनिंग की पढ़ाई, देशभर में दिलाई अपने ब्रांड को पहचान / Shivpuri News

शिवपुरी की फैशन डिजाइनर मीनाक्षी सिंह बघेल

शिवपुरी- अगर आप के अंदर कुछ करने का जज्बा है तो कोई भी चीज आप को सक्सेस पाने से रोक नहीं सकती है। ऐसी ही कुछ कहानी है शिवपुरी की फैशन डिजाइनर मीनाक्षी सिंह बघेल की। मीनाक्षी ने बताया कि फैशन डिजाइनर बनने की इच्छा मेरे मन में बचपन से ही थी पर कभी मैं इस बारे में अपने परिवार को नहीं बता पाई। इसका नतीजा ये हुआ की शिवपुरी से 12वीं पास करने के बाद घरवालों ने इंदौर के एक इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन कर दिया। मैंने भी पूरी मेहनत और लगन के साथ इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और पढ़ाई पूरी करने के बाद मुझे जॉब भी मिल गई। इसके बाद भी फैशन डिजाइनिंग के प्रति मेरा प्यार बरकरार था। अच्छी जॉब होने के बावजूद मैं अपने काम से खुश नहीं थी। ऐसे में मैंने परिवार के लोगों के साथ चर्चा करने के बाद नौकर छोड़कर फैशन डिजाइनिंग में करियर बनाने का सोचा।

अच्छी खासी नौकरी छोड़कर फैशन डिजाइनिंग की पढ़ाई करने फैसला काफी बढ़ा फैसला थाए इसलिए जॉब छोडऩे से पहले मैंने इंदौर में अच्छे फैशन डिजाइनिंग इंस्टीट्यूट की तलाश शुरू की। इस दौरान मुझे आईएनआईएफडी के अलावा कई फैशन इंस्टीट्यूट बारे में पता चला। मैंने सब जगह जाकर काफी रिसर्च की। जब मैं आईएनआईएफडी के सेंटर पर पहुंची तो मुझे समझ आ गया कि यही वह जगह है जहां पढ़कर मैं अपने बचपन के सपने को पूरा कर सकती हूं। ये बात अलग है कि जब मैंने आईएनआईएफडी में एक फैशन छात्र के रूप में अपनी यात्रा शुरू कीए तो मुझे फैशन डिजाइन की तकनीक के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। यहां की टीचर और मेंटर्स ने मुझे काफी हेल्प किया और हर छोटी से छोटी बात को पूरे विस्तार के साथ समझाया। इंस्टीट्यूट में सभी बच्चों को इस प्रकार से ट्रीट किया जाता है जैसे कि वह अपने घर के बच्चे हैं।

रही लैक्मे फैशन शो का हिस्सा

कॉलेज में होने वाले एनुअल शो में कलेक्शन पेश करना अपने आप में एक बड़ा चैलेंज था। कलेक्शन थीम से लेकर फाइनल प्रोडक्ट रेडी कर उसे रैम्प पर पेश करने का जो अनुभव था उसने मुझे कॉन्फिडेंस से भर दिया। कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही लैक्मे फैशन वीक का हिस्सा बनने का मौका मिला। जहां मैंने देश के जाने.माने फैशन डिजाइनर के काम करने के तरीके को पास से देखा और समझा। यह एक ऐसा रियल टाइम एक्सपीरियंस है जिसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। इसके अलावा कॉलेज से हमें अलग अलग स्थानों पर एजुकेशनल टूर पर ले जाया जाता था। जिससे मुझे उन हिस्सों की संस्कृतिए वहां के लोगों की पसंद . नापसंद को समझने का मौका मिला। इसी के वजह से आज मैं अपने कलेक्शन में नए . नए एक्सपेरिमेंट कर पाती हूं।

6 साल से चला रही हूं खुद का ब्रांड

दो साल के डिप्लोमा में मुझे इतना एक्सपोजर मिल गया कि मैंने अपने खुद का ब्रांड शुरू करने का निश्चय लिया। पिछले 6 साल से मैं अपना खुद का ब्रांड हाउस ऑफ अमेया चला रही हूं । मैंने अपने ब्रांड के जरिए 10 मेट्रो शहरों में अपने कलेक्शन को 25 से अधिक एग्जीबिशन एग्जीबिट कर चुकी। सभी जगहों पर मेरे कलेक्शन को काफी पसंद किया गया है। इसी का नतीजा है कि  हर एग्जीबिशन के बाद मेरा कस्टमर बेस बढ़ जाता है। आज देश के विभिन्न शहरों के लोग मुझसे अपनी ड्रेस डिजाइन करने के लिए संपर्क करते हैं।

फैशन में कुछ भी फिक्स नहीं

मीनाक्षी ने बताया कि इस फील्ड में  करियर बनाने के लिए आपके अंदर अपने काम के प्रति जुनून और जज्बा होना जरूरी है। आप इस फील्ड को जितना ज्यादा समझेंगे उतना ज्यादा ही आपको काम करने में मजा आएगा। आपकी सोच जितना ज्यादा दूसरों से अलग होगी उतनी ही जल्दी आपको सफलता मिलना शुरू हो जाएगी। फैशन की दुनिया में कुछ भी फिक्स नहीं होता है यही आपको नए एक्सपैरिमेंट करने का मौका देता है। इसलिए यह ऐसी फील्ड है जहां आप हर समय अपने मन की करने के लिए पूरी तरह से फ्री होते है। ऐसे में जब आपके बनाएं डिजाइंस किसी क्लाइंट को पसंद आते हैं तब होने वाली फीलिंग्स को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है। आप यहां पर अपने नए-नए आईडियाज को आसानी से एक्सप्लोर कर सकते हैं। इतना ही नहींए यह क्षेत्र में आपको सफलता के साथ नाम व शोहरत भी दिलाता है। दुनियाभर में फैशन लाइन का निरंतर विस्तार होता ही जा रहा है और आज फैशन की फील्ड से जु?े कई करियर ऑप्शन्स भी उपलब्ध हैं।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
17FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular