Shivpuriहाथ धोने से सिर्फ कोरोना ही नहीं, अनेक बीमारियों से भी मिलती...

हाथ धोने से सिर्फ कोरोना ही नहीं, अनेक बीमारियों से भी मिलती है सुरक्षा- अतुल त्रिवेदी / Shivpuri News


हाथ जो साफ है ,सेहत उसके साथ है-  रवि गोयल शक्तिशाली महिला संगठन

शिवपुरी। हर साल 15 अक्तूबर को दुनियाभर में ‘ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे’ यानी विश्व हस्त प्रक्षालन दिवस मनाया जाता है। चूंकि कल दशहरा की छुट्टी होने की वजह से स्कूल की छात्राओं के साथ पूर्व संध्या पर इसे मनाया। इसे मनाने का उद्देश्य हाथों को अच्छी तरह से धोने के फायदों और महत्व के बारे में जागरूकता फैलाना है। कई डॉक्टर बताते हैं कि हाथ न धोने के कारण सबसे अधिक बीमारियां होती हैं। हाथों के जरिए ही संक्रमण और बैक्टीरिया आसानी से शरीर में चले जाते हैं और बीमारियां पैदा करते हैं। अब कोरोना वायरस को ही ले लीजिए। यह बीमारी भी हाथों के जरिए ही फैलती है। इसी उद्देश को लेकर कोर्ट रोड  शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक  विद्यालय में शक्तिशाली महिला संगठन , ब्रिटानिया न्यूट्रिशन फाउंडेशन, महिला बाल विकास एवं शिक्षा विभाग के साथ मिलकर यूनिसेफ भोपाल के तकनीकी सहयोग से हाथ धुलाई को बढ़ावा  एवम प्रोत्साहन करने हेतु जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया जिसमें कि कार्यक्रम संयोजक शक्तिशाली महिला संगठन रवि गोयल ने कहा कि आखिर हाथ धोने से कोरोना के अलावा और किन-किन बीमारियों से सुरक्षा मिल सकती है। क्यों हाथ धोना इतना जरूरी है?  हाथ धोना एक दवा की तरह है। अगर आप हाथों को नहीं धोते हैं तो वायरस के संक्रमण या बैक्टीरिया के संपर्क में आ सकते हैं, जिसकी वजह से आप बीमार पड़ सकते हैं और दवाओं की जरूरत पड़ सकती है। लेकिन अगर आप हमेशा हाथ धोते रहेंगे तो आप बीमार नहीं पड़ेंगे और दवा की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। इसलिए कहा गया है हाथ जो साफ है सेहत उसके साथ हैं। स्वच्छ भारत मिशन के संभागीय समन्वयक ग्वालियर चंबल संभाग अतुल त्रिवेदी ने कहां की हाथ धुलाई का सही तरीका अगर आप सीखना चाहते हैं तो आपको सुमन कुमारी को हमेशा याद रखना होगा उनकी मानें तो हाथ साफ करने के लिए साबुन और पानी से कम से कम 20 सेकेंड तक हाथ धोने चाहिए और उसके बाद एक साफ कपड़े से हाथों को पोंछ लेना चाहिए। इससे हाथों के जरिए फैलने वाली बीमारियों का खतरा लगभग न के बराबर हो जाता है।हाथों को कब धोना है जरूरी खाना खाने से पहले और बाद में हाथ साबुन से जरूर धोएं।

टॉयलेट इस्तेमाल करने के बाद हाथ धोना है जरूरी। उन्होंने कहा हाथ धोने से सिर्फ कोरोना ही नहीं अनेक बीमारियों से सुरक्षा मिलती है इसलिए अपने हाथों को अच्छी तरीके से साबुन से बार बार धोएं और इस संदेश को अपने आसपास के 10 लोगों तक अवश्य पहुंचाएं। कार्यक्रम का आभार प्रदर्शन स्कूल के प्राचार्य द्वारा किया गया इसके बाद छात्राओं को हाथ धोने का अभ्यास समूह में कराया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में विद्यालय का पूरा स्टाफ, शक्तिशाली महिला संगठन की पूरी टीम एवं संभागीय समन्वय अतुल त्रिवेदी स्वच्छ भारत मिशन का विशेष सहयोग राम।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
17FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular