Fast Samacharपूर्व जिपं उपाध्यक्ष गुर्जर की पत्थर खदान पर हथियारबंद बदमाशों का धमाल...

पूर्व जिपं उपाध्यक्ष गुर्जर की पत्थर खदान पर हथियारबंद बदमाशों का धमाल / Shivpuri News

मुनीम सहित स्टाफ को पीटा, रॉयल्टी में मांगा हिस्सा, गुर्जर को धमकाया

शिवपुरी। बम्हारी थाना क्षेत्र के पथरौली में धन्नो कट स्टोन पत्थर की खदान पर डेढ़ दर्जन से अधिक हथियारबंद बदमाशों ने जमकर उत्पात मचाया और खदान के मुनीम हरनाम गुर्जर सहित अन्य स्टाफ के साथ मारपीट की। बदमाशां ने बंदूक की नोंक पर मुनीम को धमकाकर उससे खदान को जारी की गई रॉयल्टी में से अपनी हिस्सेदारी मांगी। बाद में खदान संचालक भाजपा नेता व पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष जंडेल सिंह गुर्जर की रिपोर्ट पर से 5 नामजद बदमाश पप्पू पहलवान, गब्बर गुर्जर, राजा गुर्जर निवासी मगरौनी और टीका गुर्जर निवासी गढौली और जगतभान गुर्जन निवासी कैखेदा सहित 5 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

भाजपा नेता जंडेलसिंह पुत्र परमालसिंह गुर्जर निवासी लखनवां ने बताया कि वह खेती और ठेकेदारी का काम करते हैं। ग्राम बम्हारी के पथरौली में धन्नो कटस्टोन पत्थर की खदान है जिसकी लीज अशोक शर्मा के नाम से है और श्री शर्मा ककी ओर से वह खदान चलाते हैं। जहां खदान को उनका मुनीम हरनाम गुर्जर निवासी बम्हारी देखता है। अभी कुछ दिन पहले पप्पू पहलवान उर्फ मोहरसिंह गुर्जर निवासी बम्हारी के ट्रक वहां आया था जिसने पत्थर भरा औरउसकी रॉयल्टी काटी गई। इस तरह आरोपित पप्पू पहलवान ने पांच बार रॉयल्टी कटा ली लेकिन उसका भुगतान करने से उसने मना कर दिया और कहा कि वह किसी तरह की रॉयल्टी का पैसा नहीं देा। अगर उन्हें खदान चलाती है तो रॉयल्टी से आने वाली रकम का एक हिस्सा उसको भी चाहिए नहीं तो वह खदान बंद करवा देगा। इस बात को लेकर पप्पू पहलवान और उसके मुनीम के बीच कहा सुनी हो गई और 2 जनवरी की शाम को उनके पास मुनीम का फोन आया जिसने उन्हें बताया कि पप्पू पहलवान 20 लोगों के साथ स्कॉपियो कार और बाइक से आया है और वह आपको, मुझे और कारीगर तेजसिंह आदिवासी को गालियां दे रहा है और उनके पास बंदूकें भी है। इस सूचना के बाद वह वहां जाने के लिए रवाना हुए, लेकिन इससे पहले ही बदमाशों ने उनके स्टाफ के साथ मारपीट कर वहां जमकर उत्पात मचाया और बंदूक लहराकर पूरे स्टाफ को वहां से भगा दिया और खदान पर कब्जा कर लिया। चूंकि बदमाशों की संख्या अधिक थी और वह हथियारों से लैस थे इसलिए स्टाफ के कहने पर वह मौके पर नहीं पहुंचे नहीं तो बदमाश उनके साथ कोई बड़ी घ्ज्ञटना घटित कर देते। उनके मुनीम हरनाम ने उन्हें बताया कि पप्पू पहलवान के साथ कब्बर गुर्जर, राजा गुर्जर, टीका गुर्जर और जगभानसिंह ुर्जर थे, जिन्हें वह जानता है, जबकि अन्य 15 लोगों को वह नहीं जानता। जिसकी शिकायत उन्होंने थाने में की और इसी दौरान उनकी मोबाइल पर राजा गुज्रर के मोबाइल से फोन आया जिसमें उन्हें गाली-गलौंज दी और कहा कि वह खदान पर न आए नहीं तो उसे जान से मार दिया जाएगा और फोन काट दियां इस धमकी से वह इतने भयभीत हो गए कि उन्होंने रिपोर्ट करने की हिम्मत नहीं जुटा पाई। बाद में परिवार के लोगों ने उनका हौसला बढत्राया और वह हिम्मत जुटाकर कल थाने पहुंचे जहां उन्होंने अपनी शिकायत दर्ज करा दी।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
16FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular