Shivpuriरेडिऐन्ट में हुआ युवा दिवस कार्यक्रम का आयोजन / Shivpuri News

रेडिऐन्ट में हुआ युवा दिवस कार्यक्रम का आयोजन / Shivpuri News

 भारतीय संस्कृति ने विश्व को एक कुटुम्ब माना है : भार्गव

शिवपुरी। हमारे देश में दुनिया भर के लोग रहन,सहन विद्या, ज्ञान एवं संस्कृति के अध्ययन के लिए आते रहे है। हमारे संतो,ऋषि-मुनियों ने सारे विश्व के कल्याण के लिए विचार दिए है। स्वामी विवेकानंद जी ने संकल्प लिया था कि राष्ट्र के विकास के लिए अतिम व्यक्ति, दीन-हीन, झोपड़ी में रहने वाले ग्रामीण तक की सेवा करना है उन्हें सबल, सक्षम बनाना है।

उक्त उद्गार रेडिऐन्ट ग्रुप द्वारा आयोजित राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ शिवपुरी के विभाग कार्यवाह राजेश भार्गव ने व्यक्त किए। आपने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने युवाओं को राष्ट्र की गरिमामयी तरक्की के लिए जाग्रत करने का काम किया वे विश्व संत थे। स्वामी जी जाति धर्म के आधार पर भेदभाव नही मानते थें वे सफाई कर्मी मुस्लिम परिवार में भी विश्राम के लिए रूके थे। श्री भार्गव ने छात्रों शिक्षकों से आव्हान किया कि स्वामी विवेकानंद की एक बात को भी अपने जीवन में उतार लोगे तो समाज में सकारात्मक परिवर्तन होगा। श्री भार्गव ने युवाओं से कहा आप अपने आपको कमजोर मत समझो। कुछ अच्छा करो चाहे आप व्यवसाय करो, नौकरी करो, छोटा व्यवसाय करो लेकिन पूरी ईमानदारी निष्ठा के साथ करो। अपने स्वामी विवेकानंद जी के अनेक प्रसंगों के माध्यम से अपनी बात प्रभावी तरीके से रखी आपने बताया कि विदेश में उन्हें अतिथि के रूप में महल नुमा घर में ठहराया गया जहॉ वे रात भर सो सके उन्हें अपने देश के गरीब बेसहारा लोग याद आते रहे। उन्होंने अपने दीन-हीन देश वासियों को सक्षम सबल बनाने का संकल्प लिया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राजेश जी भार्गव विशिष्ट अतिथि, महेन्द्र जी पाल ( जिला सेवा प्रमुख आर.एस.एस) रेडिऐन्ट ग्रुप के संचालक शाहिद खान ने स्वामी विवेकानंद के चित्र पर दीप प्रज्वलित माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। अतिथिगण को प्रतीक चिन्ह भेंट का अभिनन्दन किया गया। कार्यक्रम का संचालन अखलाक खान ने आभार शाहिद खान ने व्यक्त किया।

कोई जीता कोई हाराः-

युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत स्वामी विवेकानंद” विषय पर आयोजित निबंध प्रतियोगिता में तीस प्रतिभागियों ने उच्च कोटि की भाषा शैली में स्वामी विवेकानंद के जीवन के प्रसंगांे के आधार पर लगभग पाँच सौ शब्दों में निबंध लिखें सभी छात्रों की ओर से प्रतीकात्मक रूप से विक्की ओझा, वैष्णवी शर्मा, नगमा बानों अंजलि यादव को पुरूस्कृत कर मुख्य अतिथि राजेश जी भार्गव विशिष्ठ अतिथि महेन्द्र जी पाल ने छात्रों का मनोबल बढाया।

 

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
16FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular