Shivpuriरेडिऐन्ट मे हुआ हिंदी दिवस समारोह : हमें हिंदी के प्रयोग करने...

रेडिऐन्ट मे हुआ हिंदी दिवस समारोह : हमें हिंदी के प्रयोग करने में हिचक नहीं होना चाहिए- शिवांगी अग्रवाल

 

फोटो नं. 15
रेडिऐन्ट ग्रुप द्वारा डिप्टी कलेक्टर शिवपुरी शिवांगी अग्रवाल के मुख्य आतिथ्य में हिंदी दिवस का आयोजन किया गया जिसमें हिंदी के प्रसिद्ध कवि-गीतकार विनय प्रकाश जैन नीरव, देश के सुप्रसिद्ध लेखक-पत्रकार जाहिद खान एवं कला एवं संस्कृति के संवाहक व पत्रकार संजीव बांझल प्रमुख वक्ता की हैसियत से शामिल हुए।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि डिप्टी कलेक्टर शिवांगी अग्रवाल ने सवाल किया कि कितने लोगों को हिंदी की वर्णमाला याद है तो अनेक ने चुप्पी साध ली। आपने कहा कि हमें हिंदी के प्रयोग करने में हिचक नहीं होना चाहिए। शिवांगी अग्रवाल ने पीएससी, यूपीएससी के लिये जानकारी देने के लिए सेमीनार, मार्गदर्शन शिविर करने की प्रस्ताव रखा साथ ही जिले में पर्यटन को बढावा देने के लिए पर्यटक स्वागत केन्द्र पर साहित्यिक, सांस्कृतिक गतिविधियाॅ आयोजन के लिए बात रखी जिस पर रेडिऐन्ट के संचालक शाहिद खान, डा. खुशी खान ने दोनों प्र्र्रस्तावों पर शीघ्र ही कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत पर सहमति दी।
गीतकार-कवि विनय प्रकाश जैन नीरव ने हिंदी भाषा के विकास में साहित्यकारों, लेखकों, मीडिया, सोशल मीडिया, फिल्मों के योगदान को उल्लेखनीय बताया। लेखक-पत्रकार जाहिद खान ने कहा हिंदी शब्द की उत्पत्ती देश की सबसे पुरानी नदी ंिसधु नदी से हुई है।
हिंदी शब्द का स्तेमाल पहले देशवायियों के लिए होता था जो बाद में भाषा के तौर पर होने लगा। साल 1918 में महात्मा गांधी ने हिंदी साहित्य सम्मेनल में हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने का सुझाव दिया था। देश की आजादी के बाद 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया। शायर अल्लामा इकबाल ने अपने मसहूर तराने हिंदी का बडी खूबसूरती से इस्तेमाल किया है ‘‘सारे जहाॅ से अच्छा हिंदुस्तां हमारा, हम बुलबले हैं इसकी ये गुलसितां हमारा, मज़हब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना हिंदी हैं हम बतन हैं हिंदोस्ताॅ हमारा’’
पत्रकार एवं संस्कृतकर्मी संजीब बांझल ने छात्रों के साथ हिंदी भाषा के सही प्रयोग को उदाहरणों के साथ संवाद  किया। आपने कहा कि हिंदी हमारी मात्रभाषा है इसका सम्मान हमें करना ही होगा।
दून पब्लिक स्कूल की डायरेक्टर डा. खुशी खान ने कहा कि मात्र भाषा हमारी संस्कृति का हिस्सा होती है इसे समृद्ध बनाने के लिए व्यवहार में लाना चाहिए साथ ही अन्य भाषाओं को भी सीखना चाहिए ताकि हम वैश्विक परिस्थितियों की चुनौतियों का सामना कर सकें।
आरम्भ में रेडिऐन्ट के डायरेक्टर शाहिद खान ने अतिगण को बुके भेंट कर अभिनन्दन किया। कायक्रम का संचालन अखलाक खान ने व आभार शाहिद खान ने व्यक्त किया।
छात्रों को दिए गए पुरस्कार
आजादी के अमृत महोत्सव अन्तर्गत जारी विषयों पर आकांक्षा लक्षकार, पुष्पेन्द्र पाल, शेजल श्रीवास्तव, सुभव सोनी, तृप्ती शर्मा, सचिन शर्मा, उमेश सोलखिया, नरेन्द्र कुशवाह, कुणाल राठौर, पंकज कुशवाह, रितिक सिकरवार ने हिंदी भाषा की विकास गाथा, आजादी के बाद औद्योगिक क्रांति, दांडी यात्रा, स्वतंत्रता संग्राम में सेनानियों का योगदार जैसे विषयों पर छात्र-छात्राओं ने भाषण दिए जिनमें से पुष्पेन्द्र पाल प्रथम, आकांक्षा लक्षकार द्वितीय व सचिन शर्मा तृतीय स्थान पर रहे जिन्हें मुख्य अतिथि डिप्टी कलेक्टर शिवांगी अग्रवाल द्वारा पुरस्कृत किया गया।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
17FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular