Shivpuriप्रकृति को प्रदूषित होने से बचाने मातोश्री होटल में हुई जागरूकता अभियान...

प्रकृति को प्रदूषित होने से बचाने मातोश्री होटल में हुई जागरूकता अभियान की बैठक / Shivpuri News

मूर्ति निर्माण में पीओपी पर प्रतिबंध को लेकर जागरूकता अभियान के दौरान मुख्य विषयों पर हुई चर्चा

शिवपुरी-आज का समय प्रकृति संरक्षण और स्वच्छता के प्रति अनुशासन, समर्पण और भावनात्मक प्रकार से कार्य करने के संकल्प का समय है इन हालातों में अब आने वाले समय में हिन्दू धर्मावलंबियों के दुर्गा महोत्सव एवं श्रीगणेश महोत्सव यह दो ऐसे बड़े आयोजन होते है जिसमें बड़ी संख्या में घर-घर और अन्य शहर के चौक-चौराहों व अनेकों स्थानों पर मूर्तियों की स्थापना की जाती है लेकिन वर्तमान समय में प्रकृति के अनुकूल बनाने के लिए हमें पीओपी से बनी मूर्तियों पर प्रतिबंध लगाना होगा हालांकि इसके लिए लगातार प्रयास होते है और कार्यशालाओं के माध्यम से जागरूकता अभियान भी चलाया जाता है, हमारा भी यही उद्देश्य है कि प्रकृति को प्रदूषित होने से बचाया जाए और पीओपी की मूर्ति के स्थान पर मिट्टी से बनी मूर्तियों का चलन और उसे प्रयोग में लाया जाए ताकि वह घर में ही विसर्जित होकर मिट्टी भी उपयोगी हो सके। यह जानकारी और जागरूकता की अलख जगाई सत्यम शर्मा कला शिक्षक और रंजीत कुमार शिक्षण सलाहकार ने जिन्होनें स्थानीय होटल मातोश्री के प्रांगण में मूर्ति निर्माण में पीओपी पर प्रतिबंध लगाने को लेकर जागरूकता अभियान के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

इस अवसर पर जिला कलेक्टर को ज्ञापन देने हेतु घोषणा भी की गई जो आगामी दिनों में सभी अभियान के कार्यकर्ताओं और समस्त भागीदारों द्वारा दिया जावेगा। सभी अभियानकर्ताओ का उद्देश्य इस अभियान को सफल बनाना और प्रकृति को प्रदूषित होने से बचाना। जिसमें सभी प्रमुख और वरिष्ठ लोगों ने इस अभियान को लेकर अपने अपने विचार रखे। जिसका मुख्य विषय पीओपी से निर्मित दुर्गा/गणेश एव अन्य हिन्दू देवी देवताओं की मूर्तियों पर प्रतिबंध और जल एवं पर्यावरण संरक्षण हेतु जागरूकता अभियान प्रमुख है।

इस दौरान इस कार्यक्रम में गोपाल गोड़ आरएसएस कार्यकर्ता, सीमा शिवहरे ओबीसी महासभा अध्यक्ष, ?स्नेहलता सिंघल आरएसएस कार्यकर्ता, बंदना शिवहरे कला शिक्षक, राजेश गोयल रजत, प्रधुम्न भारतीय विधार्थी परिषद डयूसॉफ्ट जेनेसिस इंटरनेशनल टीम के शिक्षण सलाहकार रंजीत कुमार और समस्त सहयोगी छात्र कुलदीप रघुवंशी, राहुल पाल और अन्य सगयोगी छात्र उपस्थित रहे। यहां पीओपी के दुष्घ्प्रभाव और कारकों का विस्तृत विश्लेषण भी शिवपुरी के सत्यम शर्मा कला शिक्षक और रंजीत कुमार शिक्षण सलाहकार ने कराया। शिवपुरी के सभी बरिष्ठ लोगों और अपनी टीम के साथ इसमें कदम बढ़ाया है।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
17FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular