Kolarasपुरानी नलजल योजना प़ड़ी मृत, नई में राशि का दुरुपयोग जारी /...

पुरानी नलजल योजना प़ड़ी मृत, नई में राशि का दुरुपयोग जारी / Kolaras News

ग्रामीण अंचलों में जलजीवन मिशन के अंतर्गत दो दर्जन नलजल योजनाएं होर ही हैं संचालित

कोलारस।  कोलारस विधानसभा के अंतर्गत आने वाले ग्रामीण अंचलों में जलजीवन मिशन के अंतर्गत दो दर्जन नलजल योजनाएं संचालित हो रही हैं। कोलारस सहित बदरवास, रन्नाौद, खरई सभी जगह का मुख्यालय कोलारस में स्थित है। यहीं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग के एसडीओ सहित समस्त अमला हाजिर रहता है। इसके चलते जब दूर-दराज ग्रामीण अंचलों में नलजल योजना को लेकर कोई तकनीकी खामी हो जाती है तो ग्रामीण अंचलों में काफी परेशानी का सामना करना प़ड़ता है। इसे लेकर विभाग के अधिकारियों ने निरीक्षण किया जिसमें ग्राम बेदमउ, विजयपुरा, धंधेरा, देहरदागणेश सहित एक दर्जन ग्रामीण अंचलों की नलजल योजना चालू हालत में मिली है। लेकिन कई ग्रामों में रेट्रोफिटिंग के तहत डाली जा रही नलजल योजना की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है। जो आगामी ग्रीष्मकाल में ग्रामवासियों को पानी की पूर्ति तक कराने में उपयोगी साबित नहीं होगी। दरअसल कई जगह विभाग नई और पुरानी नल जल योजना के बीच फंस रहा है। कई ग्रामीण इलाके ऐसे हैं जिनमें पूर्व में नल जल योजना की लाइन बिछी हुई है, लेकिन ठेकेदार वर्तमान योजना की राशि को ठिकाने लगाने के फेर में पुरानी योजना को तहस-नहस कर रहे हैं। दूसरी ओर कार्य की प्रणाली भी गलत अपनाई जा रही है। पहले लाइन बिछाई जा रही है और फिर ट्यूबवेल खनन हो रहा है। बोरिंग सूखी निकल जाने से लाइन पर किया गया खर्च बेकार हो जाता है। कोलारस लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग में पदस्थ एसडीओ अशोक कुमार चतुर्वेदी ने बताया कि पूर्व में डाली गई नलजल योजना की बारीकी से जांच जारी है और नवीन नलजल योजना के काम में ठेकेदार और तकनीकी अमले को गंभीरता से गुणवत्तापूर्ण कार्य करने की हिदायत दे दी गई है।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
16FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular