Fast Samacharदो जाटव परिवार के बीच हुआ झगड़ा , बीच बचाव में घायल...

दो जाटव परिवार के बीच हुआ झगड़ा , बीच बचाव में घायल एक पक्ष के वृद्ध की हुई मौत / Karera News

पुलिस द्वारा आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज न करने पर  परिजनों ने शव रखकर किया थाने का घेराव और चक्काजाम
तीन दिन पूर्व मृतक की पौती  के साथ आरोपियों ने की थी छेड़खानी , जिसका  विरोध करने पर हुआ था झगड़ा , बीच बचाव करने आये पिता के सिर में  लाठी लगने से हुए घायल ,तीन दिन बाद हुई अस्पताल में  मौत
मामला करैरा थाना के सिद्ध पुरा टोड़ा पिछोर करैरा का  
करैरा / करैरा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम टोड़ा पिछोर के सिद्ध पुरा में 10 जनवरी की रात्रि 8 बजे मृतक की पौती कु  पूजा जाटव किराने की दुकान पर सामान लेने गई हुई थी तभी वहां पर  आरोपी सुंदर जाटव आया जो शराब पिये हुए था इसने फरियादी  महेश जाटव की पुत्री  को रोका और   गाली गलौज तथा अवध व्यवहार  करने लगा । इसको लेकर दो जाटव परिवार के बीच झगड़ा हुआ । इस झगड़े में बीच बचाव कर रहे फरियादी के पिता घायल हो गए जिनकी अस्पताल में मौत हो गई । पिता की मौत से गुस्साए परिजन अपने पिता की लाश लेकर करैरा थाने पहुँचे जहाँ पुलिस ने पहले पीएम कराया इसके बाद परिजन आरोपियों के खिलाफ हत्या मामला दर्ज कराने के लिए पुलिस से मांग करते रहे । जब करैरा पुलिस ने इनकी फरियाद नही सुनी तो
गुस्साए परिजनों ने करैरा थाने का घेराव कर , शव को सड़क पर रखकर महिलाएं सड़क पर बैठक गई और आरोपियो पर हत्या का मामला दर्ज कराने पर अड़ गए । सड़क जाम होता देखकर कर आधा घण्टे में ही करैरा पुलिस ने जाम हटाया और आरोपियों पर 302 , 34 भा ,द ,वि, का पंजीयन कर विवेचना में ले लिया है ।
उक्त आशय की जानकारी देते हुए फरियादी धर्मेंद्र जाटव , महेश जाटव पुत्र  राम दयाल जाटव ने बताया है कि दस जनवरी की रात्रि 8 बजे मेरी लड़की सिद्ध पुरा में स्थित किराने की दुकान पर गई हुई थी वहां पर शराब के नशे में धुत सुंदर जाटव बैठा हुआ था उसने मेरी पुत्री के साथ छेड़खानी कर गाली गलौज की , जव इसका विरोध किया  तो वहां पर छोटा भाई नीरज जाटव पहुंचा और नीरज ने  सुंदर जाटव को रोका तो  मारपीट करने लगा । जिससे छोटे भाई के मुंदी चोटे हाथ में आई और  मुंह से  खून भी निकल आया उसके बाद मेरी मां  पहुंची तो  उनके साथ भी सुंदर जाटव मारपीट करने लगा ।आरोपी  महेंद्र जाटव के साथ अवध जाटव किशोर जाटव , हरज्ञान जाटव ,अर्जुन जाटव  ,मौजूद थे यह सभी लोगों ने मिलकर मेरे परिवारों के साथ मारपीट की  इस बीच बचाव में  मेरे पिता रामदयाल जाटव के सिर में लाठी से हमला किया जिससे  अस्पताल में उनकी  मौत हो गई ।

सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
14FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular