Fast Samacharविद्युत मण्डल के मनमाने रवैये से जनता में रोष

विद्युत मण्डल के मनमाने रवैये से जनता में रोष

विद्युत मण्डल के मनमाने रवैये से जनता में रोष
मनमाने तरीके से कनैक्शन काटने से उपभोक्ताओ का शोषण जारी
कोलारस। हाल ही में विद्युत मण्डल में पदस्थ हुये। अधिकारियो की तानाशाही कार्य शैली उपभोक्ताओ के लिए शोषण का कारण बन गई है। हालात यह हो गये है कि कम्पनी द्वारा निजी तौर पर लगाये गये। मीटर रीडर और लाईन मैनो को बसूली से लेकर कनैक्शन काटने तक का अधिकार अधिकारियो द्वारा प्रदान कर दिया गया है। अधिकारी अपने सीआर साफ सुतरी रखने के लिए और वरिष्ठ प्रवंधन द्वारा दिये गये टारगेट को पूर्ण करने के लिए बैध अवैध सभी तरीके के हथकंडे अपना रहे है। विद्युत मण्डल में पदस्थ स्थाई कर्मचारियो को मूल भूत दायित्व न सौंपते हुये विभाग के नियमो को सही तरीके से न जानने बाले  18 से 25 साल के युवाओ को एक एक उपभोक्ता के घर पर लिस्ट बना कर भेजा जा रहा है। वहीं इन अकुशल कर्मचारियो से ऐसे काम भी लिये जा रहे है। जो कतई तौर पर बैधानिक नही है। इसी के चलते बदरवास में एक करेंट हदसा हो चुका है। जिसे विभाग द्वारा भरषक दवाने का प्रयास किया गया। इसी तरज पर कोलारस में पदस्थ अधिकारी भी काम कर रहे है। जो लोग रसुकदार है। एवं शासकीय बडे पदो पर पदस्थ है उनके विद्युत बिल 30-30 हजार होने पर भी कोई कार्यवाही नही कि जा रही है। वहीं जिन उपभोक्ताओ ने 2 माह का बिल किसी कारण वस जमा नही किया है। या जिन का विद्युत बिल 3-4 हजार है दीपावली से पहले लगातार उनके घर पर मीटर रीडरो को बसूली के लिए भेजा जा रहा है। यही नही पूर्व में विद्युत मण्डल द्वारा बिना नोटिस दिये कई उपभोक्ताओ के कनैक्शन भी काटे है। जिससे उन्हे मानहानी कि साथ साथ मानसिक आघात भी पहुंचा है। ये अकुुशल निजी युवा कर्मचारी किसी भी उपभोक्ता से अभद्र व्यावहार करने से नही चूकते बिल बसूली की लिस्ट जब इनके हाथ में होती है तो कई घरो पुरूष न होने पर ये महिलाओ को भी धमकी दे जाते है। पूर्व में जब विद्युत मण्डल में जेई के तौर पर राजेश भार्गव पदस्थ थे। तो उस समय खुद हर मोर्चे पर खडे होकर विद्युत मण्डल की व्यवस्थाओ को देखा करते थे। तथा कोई भी छोटा या बडा वकायादार हो समानता का व्यवहार करते हुये वसूली करते थे। उनके कार्यकाल में कोलारस नगर में लोगो को विद्युत समस्या से निजात मिली, हर समय उनका मोवाईल जनता के लिए उपलब्ध रहता था। बर्तमान अधिकारियो के हालात यह है कि वे जनता के मोवाईल उठाने में ही परेज करते है। यही कारण था। कि लोक कल्याण शिविर के अवसर पर विधायक राम सिंह यादव द्वारा विद्युत मण्डल के अधिकारियो की जिला कलैक्टर के सामने खुल कर आलोचना की इसके बाद भी अधिकारियो की कार्यशैली में कोई बदलाव नही आया। जनता के शोषण का कार्य आज भी जारी है। इस शोषण को लेकर आगामी समय में विद्युत मण्डल के घेराव सहित धरने की चर्चाये भी सुनाई दे रही है। 

इनका कहना है
यदि छोटेबकाया दारो से विद्युत मण्डल के अधिकारी लाईन मैनो और मीटर रीडरो से जो कम्पनी द्वारा नियुक्त है। बसूली कराते है। और बिना नोटिस दिये कनैक्शन काटते है तो यह पूर्णत: अवैधानिक है। बसूली का भी एक वैधानिक तरीका है। ऐसा नही होता कि आप बसूली करने गये। और किसी का भी कनैक्शन काट दे। जिम्मेदार एवं स्थाई कर्मचारी से बसूली कराने का नियम है। छोटे बकाया दारो पर विद्युत मण्डल का इस प्रकार का व्यावहार गैर जिम्मेदाराना है। इसके लिए मैं वरिष्ठ अधिकारियो से चर्चा करूंगा। 
देवेन्द्र जैन 
पूर्व विधायक 
कोलारस 
सम्बंधित ख़बरें

Follow Us

17,733FansLike
0FollowersFollow
15FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Popular