सिंध जलावर्धन योजना के घर-घर कनेक्शन परेशानी को दूर करने ह्यूमन राईट्स संस्था ने सौंपा ज्ञापन / Shivpuri News


नपा की पंजीयन शुल्क राशि 2700 को किश्तों में करने की मांग, पुराने बकाया से मिले छूट की लगाई गुहार

शिवपुरी-मप्र शासन की कैबीनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के अथक प्रयासों से मड़ीखेड़ा डैम से पानी शिवपुरी तो आ चुका है परंतु नल कनेक्शन ले पाना शिवपुरी के 39 वार्डों की गरीब जनता के बस की बात नहीं है, यही कारण है कि मानव हितों की रक्षा को लेकर कार्य कर रहा संगठन मानवाधिकार एवं अपराध नियंत्रण संगठन(ह्यूमन राईट्स)के अध्यक्ष डॉ.एन.एस.राजपूत व ब्लॉक अध्यक्ष विपिन शिवहरे द्वारा गत दिवस शिवपुरी प्रवास पर आई कैबीनेट मंत्री को नपा के द्वारा सिंध जलावर्धन योजना के घर-घर नल कनेक्शन की परेशानी को दूर करने के संदर्भ में एक ज्ञापन सौंपा गया।


इस ज्ञापन में मानवाधिकार एवं अपराध नियंत्रण संगठन ने बताया कि विगत 10-15 वर्षों से पीएचई और नगर पालिका ने शिवपुरी शहर की कई गरीब बस्तियों कॉलोनियों में जल वितरण किया ही नहीं, लोग रात और दिन पानी की कट्टियां लेकर अपने प्रयासों से व्यवस्था करने में अपना समय लगाते रहे एवं जो मध्यम वर्ग के लोग हैं वह अपने खून पसीने की कमाई से प्राइवेट टैंकरों से अपना काम चलाते रहे। शहर की कई बस्तियों व कॉलोनियों की महिलाओं ने कई बार नगर पालिका सीएमओ के समक्ष एवं कलेक्ट्रेट पर पानी के लिए धरना प्रदर्शन भी किया। अब हर परिवार से नल कनेक्शन के लिए उन गरीबों पर पिछला बकाया के नाम पर 15 से 20 हजार रूपये के लगभग मांगे जा रहे हैं और साथ ही नए कनेक्शन के लिए रूपये 2700 अलग से मांगे जा रहे हैं साथ में शपथ पत्र के नाम पर भी रूपये 300 अलग से मांगे जा रहे हैं। 

 

इस ज्ञापन के माध्यम से संगठन ने कैबीनेट मंत्री से आग्रह किया गया है कि इस वैश्विक महामारी में कई घर उजड़ चुके हैं और लाकडाउन लगा होने के कारण गरीब परिवारों के व्यक्ति मजदूरी भी नहीं कर पाए, उनके भूखे मरने की नौबत आ गई है, अत: जब जल प्रदाय नगर पालिका व पीएचई ने किया ही नहीं है तो इतनी राशि और जुर्माना गरीबों पर अत्याचार है अत: पूर्व की राशि माफ करवाने एवं जो नए कनेक्शन के लिए रूपये 2700 लिए जा रहे हैं उन्हें भी दो अथवा चार किस्तों में जमा करने की व्यवस्था करने का आदेश नगर पालिका को करें जिससे गरीबों को सहायता प्राप्त हो और भीषण गर्मी में पानी की किल्लत से जनता को छुटकारा मिल सके। ज्ञापन सौंपने वालों में मुख्य रूप से आरके सोलंकी, पूरन सेन, हितैशी, सतीश खटीक, राजेश माहौर, आनंद शर्मा, अमित योगी आदि उपस्थित रहे।


और नया पुराने