बस ऑपरेटर के कर्मचारी ने कोरोना व शिक्षक की मां ने ब्लैक फंगस से दम तोड़ा / Shivpuri News


शिवपुरी। शिवपुरी में 3 जून को एक महिला की ब्लैक फंगस संक्रमण ने निगल लिया तो दो लोगों की कोरोना से मौत हो गई। इसमें पुरानी शिवपुरी बड़ा बाजार निवासी बस ऑपरेटर के मुनीम 40 वर्षीय युवक गोपाल पुत्र चंद्रप्रकाश सक्सेना की कोरोना से ग्वालियर में उपचार के दौरान मौत हो गई। बताया जाताह ै कि पहले गोपाल शिवपुरी के सिद्धी विनायक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, वहां उसे आयुष्मान कार्ड का कोई लाभ नहीं मिला, ही ग्वालियर के सर्राफ अस्पताल में आयुष्मान कार्ड ने इलाज में कोई मदद की। जिससे यह परिवार जबरदस्त आर्थिक तंगी में गया था। हालात यह थी कि डीआरडीओ द्वारा बनाई गई 2 डीजी की खुराक के लिए तक इस परिवर ने नेताओं से सोशल मीडिया में लगातार गुहार लगाई। गुरूवार को मेडीकल कॉलेज में 48 वर्षीय सलीम खान पुत्र साबू खान की सुबह माैत हो गई।


ब्लैक फंगस से जिले में तीसरी मौत

 

शिवपुरी जिले में ब्लैक फंगस के लगभग दर्जनभर से अधिक केस सामने चुके हैं, जबकि 3 की मौत का कारण यह बीमारी बनी जो इस संक्रमण की जकड़ में आए हैं, पिछोर के करारखेड़ा निवासी शिक्षक भाईयों की मां उर्मिला पुरोहित काफी समय से ब्लैक फंगस से पीड़ित होकर ग्वालियर के जेएच अस्पताल में इलाज करा रही थी, उनका गुरूवार को निधन हो गया। उर्मिला पुरोहित की पहले एक आंख खराब हुई, फिर दूसरी आंख में भी स्रक्रमण फैल गया तो बुधवार को उन्हें ग्वालियर से वापस घर भज दिया, जहां रात को उनकी मौत हो गई। इसके अलावा बदरवास निवासी रामवती वाल्मीकि ने पिछले दिनों भोपाल में दम तोड़ा था, जबकि शिवपुरी के इलेक्ट्रॉनिक्स कारोबारी की धर्मपत्नी कृष्णा अग्रवाल का ग्वालियर में ब्लैक फंगस से निधन हो गया था। शिवपुरी के महेंद्र शर्मा की हालत ग्वालियर में चिंतनीय है, उनकी बिटिया सोशल मीडिया में मुख्यमंत्री से उचित उपचार की गुहार लगा रही है।

और नया पुराने