टेस्टिंग के समय ही मेडिकल किट वितरित की जाये - मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया / Shivpuri News


मोनिटरिंग करने के दिए निर्देश
शिवपुरीं जिले में कोरोना की स्थिति की समीक्षा एवं संक्रमण को किस प्रकार नियंत्रित किया जाए और मरीजों का बेहतर इलाज हो सके। इस पर चर्चा के लिए मंगलवार को गूगल मीट के माध्यम से बैठक आयोजित की गई। इस वर्चुअल बैठक में प्रदेश की कैबिनेट मंत्री एवं जिले की प्रभारी मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया भी शामिल हुईं।


मंत्री सिंधिया ने निर्देश देते हुए कहा कि जो लोग टेस्ट सेंटर पर कोरोना टेस्ट कराने आ रहे हैं उन्हें वहीं मेडिकल किट दी जाए और सभी फीवर क्लीनिक पर ही यह जानकारी चस्पा करें कि सभी अपनी मेडिकल किट लेकर जाएं।


उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सही रणनीति से काम किया जाए। किल कोरोना अभियान के तहत टीम गठित की गई हैं जो घर-घर जाकर सर्वे कर रही हैं। टीम द्वारा संदिग्ध मरीजों को तत्काल दवा किट भी वितरित की जाये। साथ ही कोरोना टेस्ट कराने के लिए बताया जाए और इसकी निगरानी भी की जाये कि मरीजों को दवा वितरित की जा रही है।


उन्होंने निर्देश दिए कि रेपिड रिस्पांस टीम द्वारा मरीजों को समय पर दवा पहुंचाई जाए और टीम की निगरानी भी की जाए।
बैठक में मुख्य सचिव दीप्ति गौड़ मुखर्जी भी शामिल हुई। उन्होंने जिले की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि सभी जनपद स्तर पर कंट्रोल रूम को सक्रिय करें। कंट्रोल रूम के माध्यम से मरीजों को फोन करके दवा वितरण की जानकारी ली जाए। प्रमुख सचिव मुखर्जी ने कहा है कि टेस्ट सेंटर पर ही लोगों को दवा वितरित करें। ग्रामीण क्षेत्र में 50 घरों पर एक टीम बनाकर क्लस्टर बनाएं, जो टीम फॉलोअप करेगी। जिले में टेस्टिंग को और बढ़ाया जाए। रेड जोन वाले एरिया में कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन करायें। उन्होंने कहा है कि मॉनिटरिंग से समय पर मरीजों की जानकारी मिलेगी और समय पर इलाज शुरू होगा तो केस क्रिटिकल कंडीशन में नहीं पहुंचेगा और मरीज जल्दी ठीक होंगे, इसलिए दवा वितरण व्यवस्था को बेहतर बनाया जाये।


बैठक में कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह, जिला पंचायत सीईओ एचपी वर्मा, अपर कलेक्टर उमेश शुक्ला, समस्त एसडीएम एवं किल कोरोना अभियान नोडल अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी शामिल हुए।



नया पेज पुराने