अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही : कोरोना संक्रमित बैंककर्मी की मौत, बेटी ने लगाए अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही के आरोप / Shivpuri News

कोरोना संक्रमित पिता की मौत के बाद भावुक हुई युवती ने लगाए जिला अस्पताल प्रबंधन पर गंभीर आरोप


शहर की समाजसेवी संस्था का हिस्सा है युवती, असहाय बच्चों को शिक्षा देने में


निभाती थी योगदान


समाजसेवी युवती का पिता की मौत के बाद टूटा सब्र का बांध, प्रवंधन पर लगाये लापरवाही के गंभीर आरोप


पिता की मौत से आहत युवती ने खोली जिला अस्पताल में वरती जा रही लापरवाही की


शिवपुरी। कोरोना के संक्रमण के चलते शिवपुरी जिलें में हर रोज़ स्वास्थ सेवाओं पर सवालिया निशान उठ रहे है जहां एक नहीं अनगिनत परिजन अब तक जिले में दी जा रहीं स्वास्थ सेवाओं पर आरोप लगा चुके है।


आज फिर शिवपुरी के जिला अस्पताल में हंगामा खड़ा हो गया जहां एक समाजसेवी युवती ने अपने पिता की मौत के बाद अस्पताल प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगा दिए।


समाज सेवी युवती ने अस्पताल प्रबंधन आरोप लगाते हुए कहा कि उसके पिता दस दिनों से भर्ती से भर्ती थे सुरूवाती तीन दिनों तक उसके पिता को विना उपचार के रखा गया जब उसके शिवपुरी के नेता सहित मंत्री से मदद की गुहार लगाई उसके बाद उसके पिता को कोविड आईसीयू में भर्ती किया गया। आईसीयू में भर्ती होने के बाद भी उसके पिता कोई देखने नहीं आया जब उसके इसकी शिकायत दर्ज कराई तो एक डॉक्टर आता है और कहता है कि सब ठीक है परन्तु कुछ देर बाद अस्पताल में एक ओर डॉक्टर उनके पिता को देखने आता है जो एकाएक उनके पिता की हालत गंबीर बता देता है जिसके बाद उसके पिता की मौत हो जाती है।


बताते चलें कि एकता शर्मा एक समाजसेवी जो बच्चों को शिक्षा से लेकर कई महत्वपूर्ण कार्य कर चुकी है आज ऐसी पढ़ी-लिखी युवती जो समाज हितेषी कार्यो में अपना समय व्यतीत करती थी जो आज प्रशासन के अंग स्वास्थ विभाग पर गंभीर आरोप लगा रही है।


नया पेज पुराने