शादी में आया बालक घर का रास्ता भटका, पुलिस बनी मददगार / Shivpuri News

- दो घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस ने गुम बालक को पहुंचाया घर

-कोतवाली पुलिस की मदद से पांच साल के बालक की सकुशल हुई घर वापसी


 

शिवपुरी/ शिवपुरी कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत अपने परिवार से बिछड़े एक पांच वर्षीय बालक को दो घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस और चाइल्ड लाइन की मदद से शुक्रवार की सुबह उसके घर पहुंचाने में सफलता मिली है। इस पूरे प्रकरण में कोतवाली में पदस्थ एएसआई आबिद खान, सैनिक धर्मेंद्र ओझा व चाइल्ड लाइन कार्यकर्ता हिम्मत रावत का संयुक्त प्रयास कारगर रहा जिन्होंने खुद दो घंटे की मशक्कत के बाद गुम बालक के घर को खोजा और उसके परिवार का पता लगाकर बालक को उसके घर तक पहुंचाया। 

 

पुलिस ने बताया है कि दिव्यांश रजक (उम्र 5 वर्ष) अपनी दादी के साथ फतेहपुर में एक शादी समारोह में आया हुआ था। इस दौरान शुक्रवार की सुबह वह इस शादी वाले घर से किराने की दुकान पर सामान लेने आया तो रास्ता भटक गया। बाद में यह बालक किसी तरह कोतवाली थाने पहुंचा। कोतवाली पहुंचने पर बालक से वहां पर ड्यूटी पर मौजूद एएसआई आबिद खान, सैनिक धर्मेंद्र ओझा ने बालक से उसके घर के बारे में पहुंचा। लेकिन बालक सही पता नहीं बता पा रहा था। बाद में चाइल्ड लाइन की मदद ली गई। बालक की काउंसिलिंग की गई। काउंसिलिंग के दौरान भी बालक सही पता नहीं बता पा रहा था। पुलिस और चाइल्ड लाइन ने बालक को पुलिस वाहन में बिठाकर फतेहपुर, पुरानी शिवपुरी, गुरुद्वारा रोड, नवाब साहब रोड आदि पर उसके घर का पता लगाने की खोजबीन की। 

 

बाद में बालक ने अपने घर का पता बताते हुए कहा कि पट्टी के पास रहता है। इस दौरान एएसआई आबिद खान ने पट्टी के नाम सुनते ही हवाई पट्टी क्षेत्र में ले जाकर वहां पर बालक के घर की तलाश की तो स्थानीय कुछ लोगों ने बताया कि उक्त बालक लुधावली का रहने वाला है। लुधावली में बालक के घर का पता लगाया गया। वहां पर बालक के माता-पिता रजनी और नरेश रजक चिंतित थे उनको पूरे मामले की जानकारी दी और गुम बालक को उनके सुपुर्द किया गया। इस पूरे मामले की जानकारी सीडब्ल्यूसी और बाल संरक्षण अधिकारी को भी दी गई।

नया पेज पुराने