सैनिक का रिश्वत लेते हुए वीडियो वायरल, थाने से हटाया / Shivpuri News

शिवपुरी। खनियांधाना थाना अंतर्गत मानव तस्करी और रिश्वतखोरी का एक मामला सामने आया है। जीजा ने अपनी नाबालिग साली को बेचकर एक लाख 20 हजार रुपये में उसकी शादी करा दी। जब नाबालिग ने अपने चाचा को आपबीती सुनाई तो चाचा शिकायत करने थाने पहुंचे। यहां पर पुलिस ने उनकी मदद करने के बजाय चाचा से ही 27 हजार रुपये की रिश्वत ले ली। रिश्वत लेते हुए आरक्षक का वीडियो बन गया। ये वीडियो शुक्रवार को वायरल हो गया।

जानकारी के अनुसार, जीतू रजक निवासी दुर्गापुर की शादी उड़ीसा की एक लड़की से हुई थी। वह अपनी छोटी बहन को भी साथ ले आई, तब उसकी उम्र 12 साल थी। इसके बाद जीतू अपनी पत्नी के साथ दिल्ली मजदूरी करने गया और अपनी साली को अपने चाचा के पास छोड़ गया। जब जीतू दिल्ली से वापस आया तो साली की उम्र 16 साल हो गई। लड़की ने आरोप लगाया है कि जीतू ने उसका सौदा बसाहर गांव के अनिल से एक लाख 20 हजार रुपये में कर दिया। अनिल ने नाबालिग से जबरन शादी कर ली। इसके बाद नाबालिग ने एक दिन जीतू के चाचा बाबूलाल रजक को फोन लगाकर बताया कि वह बहुत परेशान है। वह आकर उसे बचा लें। इसके बाद बाबूलाल शिकायत करने खनियांधाना थाने पहुंचा।

चाचा को चार दिन थाने में बैठाया

बाबूलाल रजक जब शिकायत करने के लिए गया तो उसे चार दिन थाने में बैठाए रखा। इसके बाद होमगार्ड सैनिक बच्ची सिंह यादव ने बाबूलाल रजक को छोड़ने के लिए 27 हजार रुपये में राजी हुआ। उनके बीच हुई बातचीत का ऑडियो होने की बात भी सामने आई है।

पुलिस बोली प्रेम प्रसंग का मामला, बाबूलाल का लड़की से रिश्ता ही नहीं

टीआइ आलोक सिंह भदौरिया का कहना है कि यह मामला प्रेम प्रसंग का है। लड़की किसी ओर से प्यार करती है। जब हमारे पास लड़की के परेशान होने की समस्या लेकर आए, तो लड़की को थाने बुलवाया। यहां लड़की ने बताया कि वह पति के साथ नहीं रहना चाहती है, तो उसे बाल कल्याण संस्था में भेज दिया। लड़की से इन लोगों से सीधा रिश्ता नहीं होने की बात कही, ऐसे में लड़की इन्हें नहीं सौंप सकते हैं। बच्ची सिंह और बाबूलाल आपस में रिश्तेदार भी हैं। उनका आपस का कुछ लेनदेन था। किसी ने उस दौरान वीडियो बनाकर वायरल कर दिया।


नया पेज पुराने