कोचिंग पढऩे की अनुमति को लेकर सौंपा ज्ञापन, लेकिन नहीं मिली अनुमति / Shivpuri News

शिवपुरी-जिले में लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों को देखते हुए जहां कोचिंग पढऩे वाले बच्चों को कोचिंग संस्थान बंद होने को लेकर अपने भविष्य पर संकट का आभास हुआ तो छात्रों के एक दल ने मिलकर कोचिंग पढऩे हेतु सीमित संख्या में कोचिंग की अनुमति मांगने को लेकर एक ज्ञापन अपर कलेक्टर को जिलाधीश के नाम सौंपा गया। लेकिन इस ज्ञापन को सौंपने के बाद भी अपर कलेक्टर ने किसी भी तरह की कोचिंग पढऩे व पढ़ाने की अनुमति प्रदान नहीं की। जिससे कोचिंग वाले सभी छात्र-छात्राओं में निराशा का भाव देखने को मिला। 


इस दौरान ज्ञापन सौंपते समय उपस्थित छात्र अपर कलेक्टर कार्यालय पहुंचे जहां इन छात्रों में चंद्रशेखर शर्मा, रामनिवास बघेल, पहलवान लोधी, सुखदेव, मनोहर लोधी आदि मौजूद रहे जिन्हेांने ज्ञापन के माध्यम से अपनी समस्या बताई कि कोरोना संक्रमण के चलते कोचिंग संस्थान बंद करने के निर्देश दिए गए है सभी शिक्षकों ने भी कोचिंग संस्थानों में पढ़ाने से इंकार कर दिया है, यहां शिक्षकों का कहना है कि हमारे लिए अभी पढ़ाने के आदेश नहीं है इन हालातों में हम सभी छात्र जिला प्रशासन से इस ज्ञापन के माध्यम से मांग करते है कि हमारी पढ़ाई में बाधा उत्पन्न ना हो, इसीलिए हम सरकार और प्रशासन के नियमों का पालन करेंगें साथ ही कम से कम 10  बच्चों की पढ़ाने की अनुमति प्रदाय की जाए, लेकिन इस ज्ञापन को लेने के बाद जिला पंचायत सीईओ व प्रभारी अपर कलेक्टर एच.पी.वर्मा ने साफ शब्दों में बच्चों को समझा दिया कि वर्तमान समय में कोरोना काल के हालात है और इन हालातों में किसी भी प्रकार से कोचिंग संस्थान और कोचिंग पढ़ाने व पढऩे हेतु अनुमति प्रदाय नहीं की जावेगी। इसलिए शासन के नियम निर्देशों का पालन करें। 


नया पेज पुराने