बेरजा से पकड़ा पोहरी से फरार कैदी, मुख्य प्रहरी और प्रहरी निलंबित / Shivpuri News

शिवपुरी। उप जेल पोहरी के अंदर 21 साल का कैदी बड़ी चतुराई से स्टाफ को चकमा देकर भाग निकला। 12 फीट ऊंची दीवार पर चढ़ने के लिए लकड़ी की खूटियां बनाईं और मौका पाकर दीवार में खूंटियां ठोककर चढ़ गया और भाग गया था। गिनती में खुलासा होने के बाद जेल प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। रात 10.30 बजे उप जेल पोहरी के ही स्टाफ ने बेरजा गांव में दबिश देकर घर से ही पकड़ लिया है। हेमंत को पोहरी पुलिस के हवाले कर दिया है।


बैराड़ थाने में पोक्सो एक्ट के तहत हेमंत रावत (21) पुत्र अतरसिंह रावत निवासी ग्राम बेरजा पर केस दर्ज किया था। न्यायालय द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश शिवपुरी ने 24 फरवरी को जेल भेज दिया था। हेमंत रावत रविवार की सुबह 6:15 बजे स्टाफ से नजर बचाकर दीवार चढ़कर भाग निकला। 7 बजे कैदियों की गिनती हुई, तब पता चला कि एक कैदी कम है और वह हेमंत निकला।
दरारों में लकड़ी की खूटियां आसानी से फंस गईं


 
उप जेल पोहरी की दीवार में दारारें पड़ गईं हैं। इन्हीं दरारों का फायदा कैदी हेमंत रावत ने उठा लिया। दरारों में खूटियां आसानी से फंस गईं और वह दीवार पर चढ़ गया। खूटियां कब तैयार कर लीं, किसी को भनक तक नहीं लगने दी और मौका पाकर भाग निकला। उप जेल पोहरी की दरार वाली दीवार जिससे कूदकर भागा कैदी।
मुख्य प्रहरी और प्रहरी निलंबित

 
कैदी हेमंत रावत 11 अप्रैल की सुबह 6:15 बजे बंदी वार्ड सेक्टर के बाहर मैस के सामने सफाई कर रहा था। उसके बाद बंदी सेक्टर में जाकर मैन आउटर दीवार पर बांस की लकड़ी से खूंटी लगी मिलीं। इन्हीं खूटियों से हेमंत दीवार पर चढ़कर जेल से फरार हो गया। एसडीएम जेपी गुप्ता ने इस लापरवाही के चलते उप जेल के मुख्य प्रहरी मौरूलाल आदिवासी व प्रहरी विनयसिंह को निलंबित कर दिया है। दोनों का मुख्यालय जिला जेल श्योपुर किया है।


नया पेज पुराने