जीवनदायिनी ऑक्सीजन पर अधिकारियों की चुप्पी / Shivpuri News


शिवपुरी। कोरोना काल में आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों का ऑक्सीजन लेवल कम हो रहा है और उन्हें पल पल ऑक्सीजन की आवश्यकता है लेकिन जीवनदायिनी ऑक्सीजन जिले में कितनी उपलब्ध है और कितनी ऑक्सीजन की और आवश्यकता होगी इसे लेकर जिला प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य महकमा कतई गंभीर नजर नहीं आ रहा है। 


मीडिया के फोन पर बताया भरपूर है ऑक्सीजन

मेडीकल कॉलेज के डीन अक्षय निगम के बयान के बाद जब मीडिया ने पूछा की क्या मेडीकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी है तो इसे लेकर उनका कहना था कि कोई ऑक्सीजन की कमी नहीं हैं। ऑक्सीजन भरपूर है। 


कलेक्टर ने नहीं दिया जबाव
कलेक्टर अक्षय सिंह से जब बात की गई तो उन्होंने भी इस मामले पर कोई जबाव नहीं दिया जिससे साफ जाहिर है कि ऑक्सीजन की कमी से पूरा प्रदेश जूझ रहा है ऐसे में जिले में हर रोज मौतें हो रही है फिर भी ऑक्सीजन भरपूर है तो फिर मौतें किस वजह से हो रही है इसका जबाव कौन देगा।


परिजन गुहार लगाते ऑक्सीजन  की
आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों के परिजन उनके लिए ऑक्सीजन की मांग करते नजर आए तो इतना ही नहीं सोशल माध्यम से मीडिया से भी परिजनों ने मरीजों के लिए ऑक्सीजन की मांग की। ऐसे में साफ है कि जिले में भी ऑक्सीजन की कमी है लेकिन आंकडों की बाजीगरी में नंबर 1 स्वास्थ्य महकमा और जिला प्रशासन इस पर पर्देदारी करने से पीछे नहीं हट रहे हैं। 


शमशान फुल, मौतों का मंजर देख कांपे लोग
शमशान घाट फुल है तो वहीं मौतों का मंजर देख लोग कांप रहे हैं। लोगों का कहना है कि जीवन रक्षक इंजेक्षन रेमडेसेवर की कमी भी है हालांकि 250 डोज आ गए थे लेकिन जीवन रक्षक दवा और ऑक्सीजन ही लोगोंं को मुहैया नहीं हो पा रही तो फिर लोग क्या करें।

नया पेज पुराने