कोरोना की दवा और उपकरण के लिए सोशल मीडिया पर बताए गए अकाउंट में पैसा न भेजें / Shivpuri News

शिवपुरी। कोरोना महामारी का फायदा उठाते हुए सायबर अपराधी विभिन्न सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से दवाइयों और कोरोना पीड़ितों के नाम पर ऑनलाइन वित्तीय ठगी कर धोखाधड़ी को अंजाम दे रहे हैं। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राज्य सायबर योगेश चौधरी ने एडवाइजरी जारी कर कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है।


उन्होंने बताया कि अपराधी अपने मोबाइल नंबर को विभिन्न प्रचार माध्यम, सोशल मीडिया तथा सर्च परिणाम द्वारा प्रचारित कर कोरोना के इलाज में युक्त दवाइयां इंजेक्शन की आपातकालीन प्रदाय करने वाली संस्था होने का दावा करते हैं। उस नंबर पर बात करने पर सामग्री भेजने राशि एडवांस में किसी एकाउंट में डलवाकर, सामग्री न भेजकर पीड़ित व्यक्ति के साथ ठगी की जाती है। 

 


अपराधी किसी कोरोना पीडित व्यक्ति की तस्वीर ग्रुपों में डालकर यह बताते हैं कि यह उनके मां-पिता या भाई-बहन हैं, इनके उपचार के लिए उनके पास पैसा नहीं है और खाते की जानकारी देकर पैसा मांगते हैं। कई लोग सेवाभाव में ऐसे अकाउंट में पैसा डाल देते हैं, जबकि ऐसा कोई व्यक्ति कहीं किसी अस्पताल में भर्ती होता ही नहीं है। उनके पास आक्सीजन कंसन्ट्रेटर और सिलेंडर उपलब्धता के साथ शीध्र डिलीवर की जवाबदारी लेकर अकांउट में पैसे डलवा लेते हैं और संपर्क से बाहर हो जाते है। चौधरी ने कहा कि इन प्रकार की धोखाधड़ी से बचने के लिए कुछ सावधानी बरतें। यदि आपके साथ ऐसा कोई अपराध हो तो उसकी शिकायत अपने नजदीकी पुलिस थाने में या www.cybercrime.gov.in या टोल फ्री नम्बर 15526 पर करें।


 

नया पेज पुराने