मशीनों से काम कराकर निकाल लिया लाखाें का भुगतान, ग्रामीणाें ने रोजगार सहायक पर लगाए भ्रष्टाचार के आरोप / Pohari News


शिवपुरी। पोहरी जनपद की ग्राम पंचायत धौरिया के ग्रामीणों रोजगार सहायक पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। जिला पंचायत के परियोजना अधिकारी को शिकायती आवेदन सौंपकर ग्रामीणों ने भ्रष्टाचार का खुलासा किया है। ग्रमाीणों का कहना है, कि गांव में जॉब कार्ड धारी होने के बाद भी काम मशीनों से कराया जा रहा है और मजदूरों का हक मारा जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि ग्राम पंचायत धौरिया मे रोजगार सहायक महेश धाकड़ द्वारा जमकर भ्रष्टाचार किया गया है। ग्राम पंचायत के जो भी काम हैं उसमें भ्रष्टाचार किया है।

रोजगार सहायक महेश धाकड़ पर पूर्व में ग्रामीण हितग्राहियों के शौचालय न बनवाने के चलते जनपद सीईओ द्वारा एक नोटिस भी दिया गया था। सीईओ ने भी नोटिस देकर खानापूर्ति कर दी और कोई कार्रवाई नहीं की। इसके चलते रोजगार सहायक के हौसले बुलंद हो गए हैं। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वकांक्षी योजना प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ भी ग्रामीणों को नहीं मिल पा रहा है। एक ग्रामीण के पास पहले से सरकारी योजना का आवास था और उसे उसकी पत्नी के नाम से प्रधानमंत्री आवास योजना में भी आवास दे दिया है।

ग्रामीणों ने बताया कि धौरिया मे परेला वाली पहाड़ी पर निर्माण कार्य का वर्क कोड 5696 दिनांक 30/09/2020 से दिनांक 24/12/2020 तक में 7 मस्टर रोल पर फर्जी भुगतान होकर राशि 422560 रुपये तक आहरण हो चुकी है जबकि उक्त कार्य मौके पर हुआ ही नहीं है और जो गड्ढे पहाड़ी पर दर्शाऐ गये हैं वह गड्ढे दो वर्ष पूर्व के हैं। ग्रामीणों ने मांग की है कि ग्राम पंचायत धौरिया जनपद पंचायत पोहरी की उच्च स्तरीय जांच कराई जाये और दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाए। आवेदन देने वालों में प्रकाश, केशव आदिवासी, अशोक, धर्मेंद्र, भारत गिरवर आदि शामिल थे।

नया पेज पुराने