शिवपुरी में 30 अप्रैल तक कोरोना कफ्र्यु घाेषित, जरूरी सेवाएं रहेगी चालू / Shivpuri News

जिले में लॉकडाउन एवं बाजार व्यवस्था को लेकर क्राइसिस मैनेजमेंट समूह की बैठक आयोजित
मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया और सांसद केपी यादव ने गूगल मीट के माध्यम से मीटिंग में भाग लिया



शिवपुरी।
जिले में बढ़ते कोरोना केस को देखते हुए अभी लॉकडाउन लगाया गया है। लॉकडाउन और बाजार व्यवस्था को लेकर सोमवार को क्राइसिस मैनेजमेंट समूह की बैठक आयोजित की गई। बैठक में खेल एवं युवा कल्याण, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया और शिवपुरी-गुना सांसद डॉ.के.पी.यादव ने गूगल मीट के माध्यम से भाग लिया। गूगल मीट के माध्यम से बैठक से जुड़े क्राइसिस मैनेजमेंट समूह के सदस्यों से व्यवस्थाओं को लेकर सुझाव भी आमंत्रित किए।


मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में सभी की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए समूह के सदस्यों द्वारा निर्णय लिया जाए। उन्होंने कहा की पुलिस एवं प्रशासन की टीम सतत निगरानी रखें। जागरूकता अभियान चलायें। यदि लोगों को वायरल बुखार के लक्षण दिखते हैं तो वह कोरोना टेस्ट कराएं और जांच कराने के बाद घर में ही रहे। इस अभियान में सभी सहयोग करें। समाजसेवी संस्थाएं आगे आकर प्रशासन की मदद करें और आमजन तक संदेश पहुंचाएं। अब ग्रामीण स्तर पर भी कोरोना के प्रति जागरूकता लाने की जरूरत है। गांव में प्रवेश करने वाले लोगों की स्क्रीनिंग, टेस्ट और मॉनिटरिंग आदि के निर्देश दिए हैं। मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि अभी सबसे महत्वपूर्ण है ट्रेसिंग, टेस्टिंग और ट्रीटमेंट। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के प्रति लोगों का सकारात्मक दृष्टिकोण होना चाहिए। इसलिए केंद्र पर जाकर लोग वेक्सीनेशन करायें।


बैठक में गुना शिवपुरी सांसद डॉ.के.पी.यादव ने भी भाग लिया। उन्होंने वैक्सीनेशन में पूरे प्रदेश में शिवपुरी जिले को द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर बधाई देते हुए कहा कि वैक्सीनेशन के प्रति लोगों को जागरूक करना जरूरी है। अभी शादी विवाह का सीजन आ रहा है जिसमें लोगों को जागरूक किया जाए कि कम से कम आयोजन हो। उन्होंने माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने, ग्रामीण क्षेत्रों में जन जागरूकता लाने और मोहल्ला क्लीनिक की व्यवस्था के संबंध में सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि प्राइवेट क्लीनिक पर जांच सुविधा शुरू की जाए और सीटी स्कैन मशीन की रेट नियत की जाये।


उन्होंने कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह से कहा कि शहर व ग्रामीण क्षेत्र को अलग-अलग भागों में बांट कर जांच दल गठित किए जाएं जो अधिक से अधिक सैंपल एकत्रित कर कोरोना की जांच करें। साथ ही लोग स्वयं जागरूक होकर गाइडलाइन का पालन करें। अभी सभी की सावधानी बहुत जरूरी है। बैठक में जिले की व्यवस्थाओं को लेकर समूह के सदस्यों से चर्चा की गई और सदस्यों की सहमति से आगे भी 30 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने बताया कि इस दौरान आवश्यक वस्तुओं जैसे फल, सब्जी, दूध, किराना आदि के लिए होम डिलीवरी की सुविधा शुरू की जाएगी, जिसके लिए प्रातः 7 से 10 बजे तक का समय निर्धारित किया जाएगा। 

 

अभी शहर में फ्लैग मार्च निकाल कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। लोग अनावश्यक बाहर ना निकलें। यदि कोई भी व्यक्ति अनावश्यक बाहर घूमते हुए पाया जाता है तो उस पर कार्यवाही की जाएगी। अभी शादी समारोह में भी वीडियोग्राफी की जाएगी। साथ ही अनुमति से पूर्व शादी में शामिल होने वाले मेहमानों की जानकारी भी प्रशासन को उपलब्ध कराना होगी। इस वर्चुअल मीटिंग में कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल जिला पंचायत सीईओ एचपी वर्मा एवं क्राइसिस मैनेजमेंट समूह के सदस्य व्यापारीगण इलेक्ट्रॉनिक, किराना संघ, विभिन्न धर्मों के धर्मगुरु आदि शामिल हुए।

नया पेज पुराने