आजाद अध्यापक संघ ने ज्ञापन सौंप मांगी अध्यापकों व शिक्षकों को क्रमोन्नति / Shivpuri News


शिवपुरी:- राज्य स्कूल शिक्षा सेवा के गठन होने से वर्ष 2006 के बाद नियुक्त अध्यापकों व शिक्षकों की क्रमोन्नति नही हो पा रही है। जिससे समूचे शिक्षक संवर्ग में निराशा का माहौल व्याप्त हो गया है। संघ की प्रदेशाध्यक्ष शिल्पी शिवान के आव्हान पर क्रमोन्नति सहित अपनी आठ सूत्रीय मांगों के निराकरण के लिये अध्यापकों शिक्षकों ने आजाद अध्यापक संघ के बैनर तले मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन शिवपुरी एसडीएम अरविन्द वाजपेयी एवं डिप्टी कलेक्टर अंकुर गुप्ता को सौंपा है। 


आजाद अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष सुनील वर्मा एवं महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष रिजवाना खांन ने संयुक्त रूप से वताया कि वर्ष 2006 के बाद नियुक्त अध्यापकों व शिक्षकों को 12 वर्ष से भी अधिक समय बीत जाने के बाद भी क्रमोन्निति का लाभ नही मिल पाया है। साथ ही अध्यापक संवर्ग को प्रथम नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता देने, काल्पनिक वेतन वृद्वि का भुगतान करने, शेष अध्यापकों व शिक्षकों के ट्रेजरी कोड जारी करने, शिवपुरी जिले में कुछ संकुलों द्वारा छठवे वेतनमान की एरियर की राशि का भुगतान सभी अध्यापकों व शिक्षकों को नही करने सहित सभी समस्याओं के निराकरण के लिए आजाद अध्यापक संघ के बैनर तले शिवपुरी अनुविभागीय अधिकारी अरविन्द वाजपेयी एवं डिप्टी कलेक्टर अंकुर गुप्ता को मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा है। 

 


ज्ञापन में प्रमुख रूप से प्रांतीय शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राज कुमार सरैया, शासकीय अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष पवन अवस्थी, शासकीय सेवक सेतू के संरक्षक अंगद सिंह तोमर संरक्षक अरविन्द सरैया, संयोजक के पी जैन, मुकेश गौतम, प्रदेश कोर कमेटी सदस्य मनमोहन जाटव, राष्ट्रीय संयोजक जनक सिंह रावत, न्यू पेंशन संघ जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र रावत, उपाध्यक्ष संतोश यादव, महावीर मुदगल, राजू शर्मा, संजय रावत, नरेश भार्गव, दौलतराम वर्मा, भूपेन्द्र माहौर, गोविन्द धाकड़, श्रीनिवास भार्गव, रामेष्वर धाकड़, रामलखन राठौर, हाकिम सिंह आदि शामिल थे।

और नया पुराने