वनों की कटाई के कारण बढ़ते वायु प्रदूषण और ग्लोबल वार्मिंग का बढ़ता स्तर जो हमारे जीवन के लिए सबसे बड़े खतरे की निशानी हैं - सुरेश कुमार / Shivpuri News

शक्तिशाली महिला संगठन द्वारा  आओ पर्यावरण बचाए, सभी का जीवन बेहतर बनाए विषय पर विश्व वन दिवस मनाया
 
शिवपुरी।  यूरोपीय परिसंघ की 23 वीं महासभा में हुई और 21 मार्च के दिन को सुनिश्चित किया गया और फिर संयुक्त राष्ट्र मह्सभा ने 28 नवम्बर 2012 में इसकी स्थापना की गई और उसके बाद प्रत्येक वर्ष 21 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय वन दिवस विश्व में मनाया जाने लगा। अंतर्राष्ट्रीय वन दिवस के आयोजन का उद्देश्य  जंगलो में हो रहे अंधाधुंध कटाई से हमारे पर्यावरण में हो रहे बदलाव और होने वाले दुष्परिणाम से लोगो को जागरूक करना हैं । कार्यक्रम  संयोजक शक्तिशाली महिला संगठन रवि गोयल ने बताया कि संस्था द्वारा विश्व वन दिवस के तहत आओ पर्यावरण बचाए, सभी का जीवन बेहतर बनाए विषय पर आदिवासी बाहुल्य ग्राम वांसखेड़ी में मनाया जहा कि समुदाय को वनो का हमारे जीवन पर कितना गहरा प्रभाव है इसके बारे में जागरुक किया आपको बता दें कि विश्व के विभिन्न देशों में वनों को महत्व  देने के लि‍ए हर साल 21 मार्च को विश्व  वानि‍की दि‍वस मनाया जाता है। 21 मार्च को दक्षि‍णी गोलार्ध में रात और दि‍न बराबर होते हैं। यह दि‍न वनों और वानि‍की के महत्त्व और समाज में उनके योगदान के तौर पर मनाया जाता है।

 

आज के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माधव नेशनल पार्क के परिक्षेत्र अधिकारी सुरेश शर्मा ने सर्वप्रथम कार्यक्रम में उपस्थित जन समुदाय को विश्व वन दिवस की बधाई दी एवं कहा कि वन है प्रकृति का वरदान वनोन्मूलन रोके इन्सान क्योकि वन नही होगें तो सब बेकार होगा चारों तरफ वस हाहाकार होगा क्योकि लगातार हो रहे वनों की कटाई के कारण बढ़ते वायु प्रदूषण और ग्लोबल वार्मिंग का बढ़ता स्तर जो हमारे जीवन के लिए सबसे बड़े खतरे का निशानी हैं। वन दिवस पर हमारा लोगो से यही विन्रम अनुरोध है कि कृपया जंगल को न नुकसान पहुचाएं । 

 

आज आपको ये जागरुकता कार्यक्रम में जो भी समझाया गया है संस्था द्वारा उसको आप  और लोगो में साझा करके लोगो को जागरूक करें और वनों की अवैध कटाई को लेकर और साथ की वृक्षारोपण के लिए भी ताकि फिर से हमारी पृथ्वी हरी.भरी हो जाए। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि शक्तिशाली महिला संगठन के प्रमोद गोयल ने कहा कि संस्था द्वारा जुलाई से अगस्त माह तक वांसखेड़ी के गांव में फलदार वृक्ष एवं पोषण बाटिका लगवायी गयी थी जिसको यहां के समुदाय ने खाद पानी देकर पौधो को बड़ा किया एवं पोषण वाटिका एवं सहजन के पत्तों एवं फली का यहों के आदिवासी परिवार अपने बच्चों के लिए उपयोग कर रहे है जो कि एक अच्छी पहल है कार्यक्रम में सुपोषण सखी श्रीमती रचना लोधी एवं न्यूट्रीशन चैम्पियन रौनक को समुदाय को पर्यावरण एवं वन के बारे में जागरुक करने एवं पोषण वाटिका लगाने के लिए मुख्य अतिथि द्वारा पौधा देकर सम्मनित किया । कार्यक्रम में किशोरी बालिकाओं ने स्लोगन प्रतियोगिता में रौनक, रामश्री, लक्ष्मी एवं कुसुम ने वनो से संबधित स्लोगन गाकर सुनाए जिनमें  वन होगा तभी जो जीवन होगा, वनऔर वृक्ष को मत करो नष्ट वर्ना सांस लेने में होगा कष्ट, प्यासी धरती करे पुकार जंगल बचाओं मेरे यार एवं अन्त में धरती की सुन्दरता जंगल है इनसे प्यार करो गाकर सुनाया। 

 


कार्यक्रम में सर्वप्रथम मुख्य अतिथि सुरेश  शर्मा वन परिक्षेत्र अधिकारी नेशनल पार्क को प्रमोद गोयल ने पौधा देकर उनका सम्मान किया कार्यक्रम का संचालन रवि गोयल ने किया। कार्यक्रम में वन परिक्षेत्र अधिकारी सुरेश शर्मा, वन पाल मुकेश वाथम, सादिक मोहम्मद , वन रक्षक अनुग्रह वशिष्ट , प्रमोद गोयल, पूजा शर्मा, सुपोषण सखी श्रीमती रचना लोधी , न्यट्रीशन चैम्पियन रोनक , रामश्री, लक्ष्मी , कुसुम, आंगनवाड़ी सहयिका जंसवत कौर के साथ समुदाय की किशोरी बालिकाओं ने एवं महिलाओं ने भागीदारी की एवं कार्यक्रम को सफल बनाया।

नया पेज पुराने