नवकार सेवा संस्थान शाखा की ओर से पक्षियों के लिए दान किए गए दाना पात्र / Shivpuri New

मानव सेवा के साथ पक्षी सेवा की अनूठी मिसाल पेश की नवकार संस्था ने 


शिवपुरी-मनुष्य तो अपना जीवन यापन करके अपने घर-परिवार का भरण पोषण कर लेता है लेकिन बेजुबान पक्षियों की सुध लेना भी जरूरी है उन्हें भी यदि दाना-पानी मिल जाए तो वह मासूम पक्षी भी अपने घर-परिवार का भरण-पोषण कर सकेंगें, ऐसे में इन बेजुबान पक्षियों की सुध ली सेवाभावी संस्था नवकार सेवा संस्थान ने जहां इस संस्थान की पदाधिकारी व सदस्यों ने मिलकर एक बैठक का आयोजन किया और बैठक के माध्यम से एक अनूठी पहल करते हुए अपने-अपने घरों, मंदिरों व ऐसे स्थान जहां पक्षियों की आवाजाही बनी रहती है उन स्थानों पर दाना पात्र दान किए गए। 


 

इस दौरान अवसर पर संस्था अध्यक्ष सुमन कोठारी, सचिव रूचि सांखला, कोषाध्यक्ष सुनीता कोचटा आदि सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे। यहां इस सेवा कार्य की शुरूआत संस्था संस्था की ललिता धारीवाल ने की जिन्होंने एक धार्मिक खेल के माध्यम से इस दान पात्र की उपयेागिता पर प्रकाश डाला और उसका परिणाम यह हुआ कि नवकार संस्थान शाखा शिवपुरी की ओर से पक्षियों की सेवा के लिए यह दाना पात्र दान भी किए गए जिसमे स्थानीय सीमांधर स्वामी मंदिर में भी यह दाना पात्र दान किया गया जहां मंदिर के पुजारी को दाना पात्र दान दिया गया। 

 

इस दौरान संस्था की सचिव श्रीमती रूचि सांखला ने भी इस दाना पात्र दान के रूप में किए गए कार्य में सहयोग किया और ऐसे स्थान जहां पक्षियों के लिए पेड़ों पर या घरों के बाहर छतों पर अथवा ऐसे स्थान जहां पक्षी आकर दाना चुग सके और अपना व अपने परिवार का भरण-पोषण कर सके ऐसे स्थानों पर यह दाना पात्र रखा जाएगा ताकि मनुष्य की भांति अब पक्षियों के लिए भी अपना भरण-पोषण करने में परेशानी ना आए और वह इन दाना पात्रों के माध्यम से अपना भरण-पोषण कर सके। इस कार्य की अनूठी शुरूआत में संस्था से जुड़ी सांस्कृतिक सचिव सुमिता कोचेटा एवं अल्पा सांखला ने अपने अनुभवों को यहां सांझा किया और बताया कि किस प्रकार से यह दाना पात्र पक्षियों के लिए जीवन दान के रूप में साबित होगा और इससे हम जैन धर्म के अनुसार सेवा कार्य भी कर सकेंगें।

नया पेज पुराने