फ्यूचरिस्टिक टेक्नालॉजी पर कार्य करें- सिंधिया / Shivpuri News

गोविन्दपुरा स्थित संभागीय आईटीआई के निर्माणाधीन भवन का किया निरीक्षण


 

शिवपुरी/ तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने बुधवार को गोविन्दपुरा स्थित निर्माणाधीन संभागीय आईटीआई भवन का निरीक्षण किया। उल्लेखनीय है कि एडीबी प्रोजेक्ट के तहत दस संभागीय आईटीआई का चयन किया गया है। इसमें भोपाल, ग्वालियर, होशंगाबाद, रीवा, सागर, जबलपुर, भिण्ड, उज्जैन, इंदौर और शहडोल शामिल है। भोपाल स्थित गोविन्दपुरा में स्थापित तीन आईटीआई मॉडल, गैस राहत तथा महिला आईटीआई को मर्ज कर संभागीय आईटीआई के रूप में संचालित किया जायेगा।


तकनीकी शिक्षा मंत्री सिंधिया ने आईटीआई के निर्माणाधीन भवन का निरीक्षण कर निर्माण कार्य की गुणवत्ता पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि हम प्रदेश के आईटीआई को उच्चतम स्तर का बनाने की कोशिश कर रहे हैं। गोविन्दपुरा आईटीआई को दूसरों के लिये मिसाल के रूप में स्थापित करना है। उच्च-स्तरीय और बेहतर मटेरियल का इस्तेमाल करें।


मंत्री सिंधिया ने कहा कि आईटीआई में हम सिर्फ पारम्परिक ट्रेड को ही नहीं सिखायें। हमारी कोशिश रहनी चाहिये कि हम फ्यूचिरिस्टिक तकनीकों का आईटीआई में युवाओं को प्रशिक्षण दें। इसके लिये उन्हें हमें ऐसा माहौल भी देना होगा। उन्होंने अधिकारियों को अगले दो सप्ताह के कार्य और समय-सीमा का शेड्यूल तैयार कर देने के निर्देश दिये। करोड़ों रुपये खर्च हो रहे हैं, जवाबदेही तो बनती है


तकनीकी शिक्षा मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि सौंदर्यीकरण एवं मौजूदा भवन का और कैसे उन्नयन किया जा सकता है, इसके लिए ड्रोन मेपिंग करें। उन्होंने निर्माण कार्य में इस्तेमाल हो रही सामग्री की गुणवत्ता पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि इस तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं होगी। शासन द्वारा इस प्रोजेक्ट पर करोड़ों रुपये खर्च हो रहे हैं, जवाबदेही तो बनती है। परिसर के हर इंच की जमीन का उपयोग सही तरीके से करें। भवन में उच्च गुणवत्ता की लाइट फिटिंग, टाइल्स, प्रशासनिक भवन में फायर स्प्रिंकलर्स आदि का इस्तेमाल सुनिश्चित करें।


सिंधिया ने सचिव तकनीकी शिक्षा मुकेश चन्द्र गुप्ता को अधिकारियों के साथ पुन: सभी विषयों पर समीक्षा करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर सचिव तकनीकी शिक्षा मुकेश चन्द्र गुप्ता, जीएसपी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर हरजिंदर सिंह, हाउसिंग बोर्ड तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

नया पेज पुराने