लोकायुक्त में दर्ज चार साल पुराने मामले में हुआ सीएमएचओ का तबादला / Shivpuri News

सीएमएचओ डॉ. एएल शर्मा स्टे लेने गए, यहां नए सीएमएचओ डॉ. जैन ने कर लिया जॉइन

शिवपुरी। लोकायुक्त में करीब चार साल पहले दर्ज हुए मामले में अब जाकर कार्रवाई हुई है। शिवपुरी सीएमएचओ को श्योपुर में बतौर चिकित्सक ट्रांसफर कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ट्रांसफर ऑर्डर में एक प्रति शिकायत शाखा के उपसंचालक कार्यालय को भी भेजी गई है। ट्रांसफर पर स्टे लेने के लिए डॉ. शर्मा तैयारी में थे, लेकिन स्टे मिल पाता उसके पहले ही भिंड से ट्रांसफर होकर आए डॉ. पवन जैन ने सोमवार को ज्वॉइनिंग दे दी। जबकि अभी सीएमएचओ डॉ. शर्मा रिलीव नहीं हुए थे। स्वास्थ्य विभाग में कुर्सी की यह खींचतान शहर में भी चर्चा का विषय बन गई है। उल्लेखनीय है हाल ही में डॉ. एएल शर्मा को सीएमएचओ के पद से जिला अस्पताल श्योपुर में बतौर चिकित्सक भेजने का आदेश जारी किया गया था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार डॉ. एएल शर्मा पर विकलांग सर्टिफिकेट बनाने के एवज में 5 हजार रुपये की रिश्वत लेने का मामला अपराध क्रमांक 272/2016 26 अगस्त 2018 में दर्ज हुआ था। शिकायतकर्ता शिशुपाल लोधी पुत्र गोपीलाल लोधी का एक्सीडेंट में दाहिना पैर खराब हो गया था। क्लेम के लिए उसे विकलांग प्रमाण पत्र की जरूरत थी। जब वह प्रमाण पत्र बनवाने के लिए पहुंचा तो डॉ. शर्मा ने 5 हजार की रिश्वत मांगी जिसकी शिकायत शिशुपाल ने लोकायुक्त में की। शिकायत के बाद पुलिस ने शिशुपाल को वॉइस रिकॉर्डर देकर डॉ. शर्मा के पास भेजा और वे इसमें ट्रैप हो गए। यह मामला पिछले 4 साल से चल रहा था और अब जाकर इसकी गाज गिरी है। सितंबर 2020 में भी शिशुपाल लोधी ने जिला कलेक्टर से शिकायत कि भ्रष्टाचार का अपराध दर्ज होने के बाद भी डॉ. एएल शर्मा पर कार्रवाई नहीं की जा रही है।

ापरवाही पडी भारी

शिवपुरी में नसबंदी के बाद महिलाओं को जमीन पर लिटाने के मामले में मानवाधिकार आयोग ने एसीएस मोहम्मद सुलेमान को नोटिस भेजा था। इसके बाद एसीएस की ओर से डॉ. एएल शर्मा को प्रतिवेदन देने में देरी करने पर कारण बताओ नोटिस दिया गया। विभाग में यह भी चर्चा है कि सीएमएचओ को यह लापरवाही भारी पडी और लोकायुक्त में दर्ज शिकायत के आधार पर उन पर कार्रवाई करते हुए उनसे सीएचएचओ का पद छीन लिया गया।


नया पेज पुराने