एंबूलेंस नहीं पहुंची तो ट्रेक्टर से कुपोषित बच्चों को लेकर गए / Shivpuri News

file photo
शिवपुरी। कुपोषित बच्चों को लेने के लिए एंबुलेंस नहीं पहुंची तो सेक्टर सुपरवाइजर बच्चों को उनके परिजनों के साथ गांव के ट्रैक्टर से ही कराहल लेकर आईं। यहां पर उन्होंने बच्चों को एनआरसी में भर्ती करा दिया।

कराहल के पर्तवाड़ा क्षेत्र के गोठरा गांव में दो अतिकुपोषित बच्चे सामने आए थे। इन बच्चों की हालत गंभीर होने पर सेक्टर सुपरवाइजर के द्वारा परिजन से लगातार संपर्क किया जा रहा था लेकिन परिजन बच्चों को भर्ती कराने के लिए तैयार नहीं थे। इसके बाद मंगलवार को सेक्टर सुपरवाइजर अर्चना बैस, मिनी जाटव और रेखा अग्रवाल गोठरा गांव में पहुंची और कुपोषित बच्चों के परिजन को समझाइश दी। 

 

काफी देर समझाने के बाद जब बच्चों के परिजन बच्चों को एनआरसी में भर्ती कराने के लिए राजी हुए तो सेक्टर सुपरवाइजर ने एंबुलेंस को सूचना दी। लेकिन सूचना के दो घंटे बाद भी एंबुलेंस गांव में नहीं आई तो महिलाएं एनआरसी में जाने से मना करने लगीं। ऐसे में सेक्टर सुपरवाइजर ने महिलाओं को बच्चों के साथ ट्रैक्टर से कराहल पहुंची और यहां बच्चों के प्राथमिक परीक्षण के बाद उन्हें एनआरसी में भर्ती कर लिया गया।


नया पेज पुराने