ग्वालियर: तेज रफ्तार ट्रक ने कार में मारी टक्कर दो दोस्तों की मौत / Gwalior News



ग्वालियर। 01.02.2021 / भिंड रोड से शहर की ओर आ रही कार को रॉन्ग साइड घुसे तेज रफ्तार ट्रक ने सामने से टक्कर मार दी। हादसे में कार में सवार दो दोस्तों की मौत हो गई है, जबकि दो दोस्त घायल हैं। घटना के समय मृतकों के दो दोस्त पीछे बाइक से आ रहे थे। उन्होंने ही उन्हें अस्पताल पहुंचाया, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने ट्रक जब्त कर लिया है, लेकिन चालक फरार हो गया है। सोमवार दोपहर दोनों युवकों का पोस्टमार्टम कराया गया है।

इसी कार में सवार थे दोनों दोस्त, रॉन्ग साइड आए ट्रक ने मारी टक्कर।झांसी रोड स्थित नाका चंद्रबदनी गली नंबर-5 निवासी 26 वर्षीय राहुल त्रिपाठी पुत्र चन्द्रेश त्रिपाठी, 22 वर्षीय रामलखन पुत्र हरनारायण रावत एक निजी कंपनी में काम करते हैं। शनिवार शाम को यह दोनों अपने दोस्तों जितेन्द्र गोस्वामी, धर्मेन्द्र भदौरिया, कृष्ण गोपाल व अखिलेश के साथ किसी से मिलने के लिए महाराजपुरा भिंड रोड पहुंचे थे। राहुल, रामलखन, जितेन्द्र और धर्मेन्द्र लौटते समय राहुल की कार क्रमांक एमपी07 सीबी-9211 में सवार होकर लौट रहे थे, जबकि कृष्ण पाल और अखिलेश उनके पीछे ही बाइक क्रमांक एमपी07 एमडब्ल्यू-8486 पर सवार थे। गाड़ी धर्मेन्द्र चला रहा था। चालक के पास की सीट पर राहुल और उसके पीछे रामलखन बैठा था। अभी वह लौटते समय भिंड रोड पर होटल मान सरोवर के सामने पहुंचे ही थे कि तभी ग्वालियर से भिंड की ओर जा रहे ट्रक (एमपी07एचबी-8774) के चालक ने लापरवाही व रफ्तार से चलाते हुए रॉन्ग साइड घुसकर कार में टक्कर मार दी। कार में टक्कर ड्राइवर की दूसरी तरफ से लगी। घटना के बाद चालक ट्रक से कूदकर भाग गया।

घटना के बाद पीछे आ रहे दोस्तों ने तत्काल पुलिस को सूचना दी और घायलों को एम्बुलेंस की मदद से अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में राहुल को मृत घोषित कर दिया गया, लेकिन रामलखन की सांस चल रही थी, पर कुछ देर बाद रामलखन ने भी दम तोड़ दिया। सूचना पर पुलिस ने दोनों शवों को निगरानी में लेकर पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया। सोमवार दोपहर दोनों के शवों का पोस्टमार्टम कराया गया है।

एक माह पूर्व हुआ है घर में बेटे का जन्म
पोस्टमार्टम हाउस में मिले साथियों से पता लगा है कि राहुल की दो साल पहले ही शादी हुई थी। अभी दिसंबर महीने में ही उसकी पत्नी ने बेटे को जन्म दिया है। उस पर ही पूरे परिवार की जिम्मेदारी थी। रात को उसकी पत्नी को नहीं बताया गया था कि राहुल की मौत हो गई है। सिर्फ इतना ही कहा गया था कि एक्सीडेंट में वह घायल हो गया है। सोमवार दोपहर जब शव लेकर परिजन घर पहुंचे तो राहुल की मौत का पत्नी को पता लगा। वह बेसुध हो गई। जबकि रामलखन के बारे में पता लगा है कि उसकी अभी शादी नहीं हुई है।
हमेशा साथ रहते थे राहुल और रामलखन की उम्र में चार से पांच साल का अंतर था, लेकिन उसके बाद भी वह खास दोस्त थे। दोनों हमेशा साथ रहते थे। लोगों को यह नहीं पता था कि वह मौत के साथ भी अपनी दोस्ती एक साथ निभा जाएंगे। जैसे हमेशा साथ रहते थे वैसे ही साथ ही दुनिया भी छोड़ गए।
नया पेज पुराने