छात्रा को 40 हजार रु. लौटाए, युवकों का हुआ सम्मान / Shivpuri News

शिवपुरी। आर्थिक युग में अधिकतर लोग पैसों के लिए चोरी से लेकर बड़े-बड़े घोटाले करने से पीछे नहीं हटते। ऐसे में यदि किसी को सड़क पर 40 हजार रुपए पड़े मिल जाएं तो लौटाने का मन नहीं होता। लेकिन चार युवकों को नर्सिंग छात्रा का पर्स मिला जिसमें 40 हजार रु. रखे हुए थे। चारों युवकों ने ईमानदारी का परिचय देते हुए एटीएम कार्ड, आधार व वोटर कार्ड पर दर्ज पते के आधार पर नर्सिंग छात्रों का घर ढूंढ निकाला और पुलिस के माध्यम से पैसे पर्स सहित लौटा दिए।

चांद खान निवासी जवाहर कॉलोनी, शाहरुख कुर्रेशी, फरहान खान निवासी इमाम बाड़ शिवपुरी और सगर कुर्रेशी रविवार की शाम गोविंद नगर के सामने स्थित झांसी रोड से होकर गुजर रहे थे। यहां दो शराबी युवकों को सड़क पर पड़ा पर्स उठाते हुए देख लिया। चारों ने पर्स लेकर पूछा और लेडीज पर्स होने पर शंका हुई। इस पर दोनों शराबी युवक भाग गए। पर्स खोलकर देखा तो उसमें 40 हजार रुपए रखे हुए थे। साथ ही वोटर कार्ड, आधार कार्ड और दो एटीएम कार्ड रखे हुए थे।

दस्तावेज व कार्ड पर नाम व पता दर्ज देखा तो डाइट परिसर का निकला। घर पहुंचकर पर्स दिखाया तो नर्सिंग छात्रा अविता के माता-पिता ने पहचान लिया। बाद में कोई विवाद ना हो, इसलिए देहात थाने चलकर विधिवत पर्स सहित पैसे व सामान लौटाने की शर्त रखी।

ग्वालियर से नर्सिंग कर रही छात्रा अविता ने बताया कि फीस जमा करने मां और स्वयं का एटीएम कार्ड लेकर 40 हजार रु. निकाले थे। शाम 6.30 बजे आते वक्त छोटी बहन स्कूटी चला रही थी, पर्स बैग में रखा हुआ था। खराब सड़क होने की वजह से बैग से पर्स कब नीचे गिर गया, हमें पता नहीं चला।

ईमानदारी के लिए पुलिस ने चारों का किया सम्मान

देहात थाना टीआई सुनील खेमरिया ने बताया कि चार व नर्सिंग छात्रा अपने परिजनों के संग थाने आई और सारा घटनाक्रम बताया। विधिवत 40 हजार रुपए, सामान सहित पर्स छात्र अविता व उसके माता-पिता को सुपुर्द कर दिए। टीआई खेमरिया ने बताया कि हमें लगा कि इस ईमानदारी के काम के लिए चारों युवका को सम्मानित किया। बता दें कि इन युवकों में शाहरुक खान यूथ कांग्रेस का उपाध्यक्ष है।

नया पेज पुराने