17 साल से भटक रहे पेंशनर को आज तक नहीं हुआ पेंशन का भुगतान / Shivpuri News

वृद्ध सेवानिवृत पोस्टमेन नाथूराम ने कलेक्टर को दिया आवेदन


शिवपुरी। 17 साल पहले पोस्ट विभाग शिवपुरी से पोस्टमैंन के पद से सेवानिवृत हुए पेंशनर नाथूराम रिछारिया आज तक पेंशन के लिए सरकारी कार्यालयों के चक्कर काट रहे हैं। लेकिन उन्हें पेंशन भुगतान नहीं हुई। वृद्ध और बीमार पेंशनर ने पेंशन भुगतान के लिए कलेक्टर को आवेदन दिया। सेवानिवृत नाथूराम रिछारिया राज्यमंत्री द्वारा बेस्ट पोस्टमेन से भी नवाजे जा चुके हैं।

आवेदन में प्रार्थी ने बताया कि वर्ष 2003 में झगड़े के एक प्रकरण में उसे झूठा फंसा दिया गया। जिससे उसे पद से बर्खास्त कर दिया गया। लेकिन पेंशन एवं अन्य भत्तो का भुगतान आज तक नहीं किया गया। जबकि उक्त प्रकरण का अंतिम डिसीजन वर्ष 2008 में माननीय हाईकोर्ट ग्वालियर से हो गया। जिसमें आदेश के कॉलम नम्बर 12 में कहा गया है कि नौकरी पेशा किसी भी व्यक्ति को उक्त प्रकरण से कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। उसके बाद भी प्रार्थी के पेंशन व भत्तों का भुगतान नहीं किया गया। सेवानिवृत पोस्टमैन नाथूराम ने इस संबंध में पोस्ट ऑफिस शिवपुरी से लेकर अन्य जगह पत्र व्यवहार किया। परंतु कोई हल नहीं निकला। जबकि अब उसका स्वास्थ्य खराब रहता है। चलने फिरने में परेशानी आती है। जीवन यापन करने में भी दिक्कत महसूस हो रही है। लेकिन इसके बाद भी संवेदनहीन प्रशासन उसकी सुध नहीं ले रहा है।


नया पेज पुराने