दो पंचायतों में एक ही नाम के गांव, इसका फायदा उठाकर पीएम आवास में कर दिया 11 लाख का घोटाला / Badarwas News

दो पंचायतों में एक ही नाम के गांव व मोहल्ला, इसका फायदा उठाकर फर्जी तरीके से निकाले 11 लाख रुपये

बदरवास का मामलाः रामपुरी और सालौन दोनों में नाउटूक नाम का मोहल्ला

रामपुरी के नाउटूक के रहने वाले 9 लोगों के पीएम आवास की राशि सालौन पंचायत से निकाली

बदरवास। एक नाम होने से कई बार कंफ्यूजन की स्थिति बन जाती है, लेकिन बदरवास तहसील में एक नाम होने का फायदा उठाकर 11 लाख रुपये का घोटाला कर दिया गया। वहां रामपुरी और सालौन दोनों ही पंचायत में नाउटूक है। रामपुरी में नाउटूक एक मोहल्ले का नाम है और सालौन में एक गांव का। रामपुरी नाउटूक में रहने वाले 9 लोगों के नाम सालौन पंचायत के नााउटूक में दर्शा कर पीएम आवास योजना के हर हितग्राही के 1.20 लाख रुपये निकाल लिए गए। जब यह लोग पीएम आवास योजना का लाभ लेने के लिए पहुंचे तो पता चला कि इनके नाम से तो डेढ़ साल पहले ही रुपये निकल गए हैं। साथ ही इन्हें रामपुरी पंचायत का नहीं, बल्कि सालौन पंचायत का रहवासी बताया गया है। इसके बाद इस पूरे फर्जीवाड़े का खुलासा हो गया। अब सालौन पंचायत के रोजगार सचिव और पंचायत सचिव अपने यहां से कोई भी गड़बडी होने की बात से इंकार कर रहे हैं, लेकिन इन 9 लोगों की राशि तो निकाली ही जा चुकी है। डेढ़ साल तक किसी अधिकारी के संज्ञान में भी यह मामला नहीं आया।


वास लेने पहुंच तो हुआ खुलासा, 2 की ओर आना है राशि

इन सभी 9 लोगों की राशि निकालने का खुलासा तब हुआ जब यह लोग योजना का लाभ लेने पहुंचे। इनके रिकॉर्ड में यह पहले से दर्शा रहा था कि इनके तो घर बनकर तैयार हो चुके हैं। इसके बाद सभी लोग हैरत में पड़ गए कि जब उन्होंने अभी तक घर बनवाया ही नहीं तो उनके नाम से घर बना हुआ कैसे दिखाई दे रहा है। इस योजना की राशि ग्राम पंचायत के जरिए ही जारी होती है। ऐसे में उनके कर्मचारियों की भूमिका होने से इंकार नहीं किया जा सकता है।


न ग्रामीणों ने लगाए दस्तावेजों में हेराफेरी करने का आरोप

हीरा भील पुत्र गौरसन भील, रमटू भील पुत्र गलिया भील, रतन पुत्री साजी भील,बदी भील पुत्री थावरचंद भील, सुरेश कुमार भील पुत्र बालू भील, लालसिंह सिंह भील पुत्र नागजी भील, शांता भील पुत्री खातू भील, नानी भील पुत्री कानजी भील, सरिता भील पुत्री शंकर भील, भुर्जी भील पुत्र हड़िया भील और भुर्जी भील पुत्र नाथू भील के पीएम आवास सालौन में बनाए हुए दर्शाए जा रहे हैं। जबकि यह लोग सालौन में नहीं, बल्कि रामपुरी ग्राम पंचायत के नाउटूक मोहल्ले में रहते हैं।


इनका कहना है

मेरे नाम का आवास सालोंन ग्राम पंचायत में बन गया है। सूची में आवास कंप्लीट लिखा आ रहा है। दस्तावेज में हेराफेरी कर 1.20 लाख रुपये निकाले हैं।

भुर्जी भील,नाउटूक रामपुरी।


सालौन ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक भगवान सिंह पटेलिया ने हमारे नाम की कुटीर सालौन में बनबा दी हैं सूची में आवास पूर्ण लिखा आ रहा हैं पांच दिन पहले पता चला कि 1.20 लाख रु निकल भी चुके लेकिन हमें प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना का लाभ नही मिल पाया।

लालसिंह भील, नाउटूक रामपुरी।


यह रामपुरी के निवासी हैं। इनके नाम से सलोन में कैसे पीएम आवास निकल गए यह हमें पता नहीं।

आनंद यादव, सचिव रामपुरी।


आप इन हितग्राहियों की सूची मुझे भेज दें। मैं दिखवाता हूं कि क्या मामला है। इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा उसके ऊपर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

दिनेश शाक्य, सीईओ बदरवास।

नया पेज पुराने