आनंद मार्ग द्वारा वरिष्ठ सन्यासियों के महाप्रयाण पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया / Shivpuri News

शिवपुरी / आनंद मार्ग  प्रचारक संघ शाखा शिवपुरी द्वारा आनंद मार्ग के वरिष्ठ सन्यासी आचार्य जोकि अभी पिछले दिनों में जिनका महाप्रयाण हो गया है उनकी श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया। इस अवसर पर आनंद मार्ग प्रचारक संघ की शाखा शिवपुरी द्वारा अस्पताल परिसर में खाने के पैकेट का वितरण किया गया ।आनंद मार्ग प्रचारक संघ के प्रवक्ता निष्काम गर्ग ने जानकारी देते हुए बताया कि पिछले कुछ दिनों में आनंद मार्ग के वरिष्ठ सन्यासी आचार्य पवित्रानंद अवधूत आचार्य मन्त्रेश्वरानंद अवधूत,आचार्य केशवानंद अवधूत आचार्य यतिस्वरानंद  अवधूत का महाप्रयाण हो गया। 


यह सभी आचार्य आनंद मार्ग के वरिष्ठ पदों पर कार्यरत रहे। इस अवसर पर आनंद मार्ग के संभागीय सचिव आचार्य सुभद्रानंद अवधूत ने श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आचार्य केशवानंद अवधूत,आनंद मार्ग के संस्थापक श्री श्री आनंदमूर्ति जी के निजी सहायक रहे ।यह  गुरुदेव के जीवन के आखरी निजी सहायक थे। आचार्य केशवानंद अवधूत आनंद मार्ग के जीवनदायी सन्यासी सन 1966 में बने थे ।तब से लेकर अपने जीवन के अंतिम दिनों तक वह आनंद मार्ग की केंद्रीय समिति में विभिन्न पदों पर रहे। आपातकाल के दौरान आनंद मार्ग के कार्यकारी महासचिव जैसे वरिष्ठ पदों पर रहे। इसके बाद  वह लंबे समय तक श्री श्री आनंदमूर्ति जी के निजी सहायक के रूप में रहे और यह कार्य उन्होंने श्री श्री आनंदमूर्ति जी के देह त्याग तक बखूबी किया। क्योंकि श्री श्री आनंदमूर्ति जी एक रहस्य में महा पुरुष रहे अतः उनका निजी सहायक होना बहुत ही कठिन कार्य था,जिसको आचार्य जी द्वारा बड़ी बखूबी से निभाया गया ,वह हमेशा प्रसन्न चित्त रहते थे ,और मृदुभाषी थे।

 

 वृद्धावस्था के कारण उनका निधन  5 जनवरी को  निधन हो गया। इसी प्रकार आचार्य मंत्रेश्वरानंद अवधूत मार्ग के वरिष्ठ सन्यासी थे ,इन्होंने भी आनंद मार्ग के महासचिव पद को कई वर्षों तक सुशोभित किया ।आचार्य जी बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे उनका कार्य करिश्माई था। आचार्य पवित्रानंद अवधूत भी आनंद मार्ग के वरिष्ठ सन्यासी थे इन्होंने भी आनंद मार्ग के कई वरिष्ठ पदों पर कार्य करें करते हुए संपूर्ण विश्व में कई स्थानों पर धर्म प्रचार किया।आनंद मार्ग प्रचारक संघ शाखा शिवपुरी सभी आचार्यों के महाप्रयाण पर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता है। तथा परमपिता से प्रार्थना करता है कि  वे इन दिवंगत आत्माओं को अपनी गोद में शरण दे ।मानवता की सेवा के लिए ऐसे महान मनुष्यों को इस धरती पर पुनः पुनः भेजता रहे जिससे यह धरती ऐसे पुष्प स्वरूप लोगों से सुशोभित होती रहे। शाखा द्वारा इस अवसर पर शिवपुरी जिला चिकित्सालय परिसर में लोगों को भोजन के पैकेट वितरण  किए गए।

नया पेज पुराने