किराये के कारण कोई बच्चा पढ़ाई से वंचित न हो: चंचल पाराशर / Kolaras News


कोलारस- आमतौर पर देखा जाता है कि गरीबी और निर्धनता के कारण कई होनहार बच्चे उच्च शिक्षा अध्ययन से वंचित रह जाते हैं। गरीब परिवारों के ऐसे होनहार बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए भाजपा सरकार ने छात्रवृत्ति, की अनेक योजनाएं चलाई हैं और इन योजनाओं का लाभ लेकर अनेकों निर्धन परिवारों के छात्र ऊंचे ऊंचे पदों पर पहुंच रहे हैं। ऐसी ही एक समस्या है कि स्कूल की पढ़ाई खत्म करने के लिए कस्बो के विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा के लिए जिला स्तर पर स्कूल कॉलेजों और ट्यूशन पड़ने के लिए आवागमन करना पड़ता है।और इसके लिए उन्हें दिन व दिन बड़ रहे यात्री वाहनों के किराए के चलते समस्या आ रही है। विद्यार्थियों की इसी समस्या को हल करने के लिए मैने और मेरे परिवार ने ये निर्णय लिया है कि हमारी रामेश्वरधाम टूर ट्रेवल्स की समस्त बसें जो कोलारस से शिवपुरी रुट पर चलती हैं। उन बसों में कोलारस नगर से शिवपुरी पड़ने के लिए जाने और लौटकर कोलारस आने वाले छात्र छात्राओं से किसी प्रकार का कोई शुल्क नही लिया जाएगा। इसके लिए शीघ्र ही हमारे कार्यालय से एक ट्रेवल पास प्रदान किया जाएगा। इसके लिए उन्हें हमारी तरफ़ से एक फार्म दिया जाएगा जिसे वे अपने कॉलेज ,ट्यूशन और स्कूल से सत्यापित कराकर दो पासपोर्ट साइज के फोटो सहित हमारे कार्यालय में जमा करेंगे। इसके बाद उन्हें उन्हें एक पास जारी किया जाएगा जिसे दिखाने पर रामेश्वरधाम टूर ट्रेवल्स की बसों द्वारा उनसे किराया नही लिया जाएगा।ल

एक हेल्पलाइन नम्बर भी होगा जारी

कोलारस से शिबपुरी पढ़ाई के लिए अप डाउन करने वाले विद्यार्थियों से बस स्टाफ यदि किराया लेता है तो उसकी शिकायत के लिए हमारे द्वारा एक हेल्पलाइन नम्बर भी जारी किया जाएगा। जिस पर वे अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगे। हमारा प्रयास है कि किराये के पैसों की कमी के चलते कोई भी जरूरतमंद विद्यार्थी पढ़ाई से वंचित नही रहना चाहिए।


किराया पढ़ाई में बाधा न बने

कोलारस से शिवपुरी पड़ने के लिए जाने वाले विद्यार्थियों को बड़ते हुए किराए के कारण बहुत परेशानी हो रही थी। सोशल मीडिया और कुछ विद्यार्थियों से जानकारी मिली तो हमारे परिवार ने ये तय किया कि रामेश्वर धाम ट्रेवल्स कि जितनी भी बस इस रूट पर चलती हैं ।उनमें विद्यार्थियों को निशुल्क आवागमन की सुविधा दी जाएगी। इसके लिए उन्हें एक वेरिफिकेशन फार्म कंप्लीट करके हमारे ऑफिस पर देना होगा। इसके बाद उन्हें एक पहचान पत्र जारी करेंगे जिसे दिखाने के बाद उनसे किराया नहीं लिया जाएगा।

नया पेज पुराने