खेद प्रकट करने में भी राजनीति, भाजपा नेताओं ने कर दी अपनी ब्रांडिंग ,धूल की समस्या पर किसी ने खेद प्रकट नहीं किया / Shivpuri News

 

शिवपुरी। थीम रोड का निर्माण तय समय से डेढ साल लेट चल रहा है। इसके कारण सड़कों पर हुई खुदाई और उड़ती धूल के कारण जनता दो साल से परेशानी झेल रही है। जनता की परेशानी को समझते हुए कैबिनेट मंत्री और स्थानीय विधायक यशोधरा राजे सिंधिया ने नवंबर में हुई समीक्षा बैठक में पीडब्ल्यूडी को निर्देश दिए थे, कि शहर में नियत दूरी पर होर्डिंग्स लगाए जाएं और इसमें जनता को हो रही असुविधा के लिए खेद प्रकट किया जाए। पीडब्ल्यूडी को हर 50 मीटर में यह बोर्ड लगाने के निर्देश दिए थे। अब शहर के स्थानीय नेताओं ने इसे भी अपनी ब्रांडिंग का जरिया बना लिया। हाइकोर्ट से लेकर प्रशासन तक के आदेशों को धता बताकर यहां पर अपने फोटो के साथ बडे-बडे होर्डिंग तान दिए हैं।मंत्री के नाम पर भाजपा नेता शहर में अपना प्रचार कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है, कि अब शहर में होर्डिंग्स लगाने की अनुमति नहीं है। यहां पर सिर्फ थीम रोड केे संबंध में जानकारी देने और खेद प्रकट करने के होर्डिंग लगने थे। नेताओं के लगे होर्डिंग्स अब जनता के लिए नई मुसीबत खड़ी कर रहे हैं। यहां पूरे माधवचौक चौराहे पर इन होर्डिंग्स का कब्जा है। होर्डिंग्स में चमक रहे अधिकांश स्थानीय नेता हैं जिन्हें अभी-अभी कार्यकारिणी में स्थान मिला है। वहीं इसमें कुछ ऐसे नेता भी शामिल हैं जो अपनी पत्नी के लिए भाजपा से टिकट की दावेदारी कर रहे हैं। अब शहरवासियों के बीच भी यह चर्चा का विषय बना है कि इन होर्डिंग्स का उद्देश्य जनता के प्रति खेद प्रकट करना था या फिर अपना प्रचार करना।

यहां भी नगर पालिका मौन

शहर में अवैध होर्डिंग्स न लगने देना नगर पालिका की जिम्मेदारी है। नगर पालिका ने पहले भी यहां पर अपनी शह पर होर्डिंग्स लगवाए हुए थे जिसे पिछले साल प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए हटाया था। शहर में 450 से ज्यादा अवैध होर्डिंग्स लगे हुए थे जिन्हें अभियान चलाकर हटाया गया था। यहां भी अब नगर पालिका का उदासीन रवैया है।


नया पेज पुराने