जमीन हड़पने जिंदा व्यक्ति का बनवा दिया मृत्यु प्रमाण पत्र / Shivpuri News


खनियांधाना। तहसील के मुहारीकलां गांव का आदिवासी युवक मंगलवार को अपना मृत्यु प्रमाण पत्र लेकर कलेक्टोरेट और एसपी ऑफिस पहुंच गया। अधिकारियों को आवेदन के साथ अपना मृत्य प्रमाण पत्र दिखाया और कहा कि मैं अभी जिंदा हूं। गांव के दबंग ने दो साल पहले मेरी 14 साल की नाबालिग बेटी को अगवा करके कहीं बेच दिया है। उसके बाद मेरी पत्नी को भी बहला-फुसलाकर संग ले गया है। इसके बाद मेरी जमीन हड़पने के लिए मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाकर तहसील से फौती नामांतरण कराने की कोशिश की है।

बद्रीप्रसाद पुत्र निर्भय आदिवासी निवासी मुहारीकलां ने बताया कि मेरी 14 साल की नाबालिग बेटी सूरजमुखी आदिवासी काे दो साल पहले गांव का बृजेश लोधी अपने साथ बहला फुसलाकर भगा ले गया था। इसके बाद बृजेश मेरी पत्नी जामवती को भी ले गया है। इस मामले की खनियाधाना थाने सहित अन्य जगह शिकायत की, लेकिन कहीं भी आज तक सुनवाई नहीं हुई। बद्रीप्रसाद ने संगीन आरोप लगाते हुए कहा कि बृजेश लोधी आए दिन लड़कियों को उठाकर बेचता आ रहा है।

आज तक मेरी बेटी का भी पता नहीं है। वहीं मेरी पत्नी को अपने चंगुल में लेकर उसने पति यानी मेरा (बद्रीप्रसाद) को मृत घोषित कराकर 12 बीघा जमीन एवं मकान का फौती नामांतरण कराने के लिए खनियांधाना तहसील में आवेदन दिया है। अधिकारियों से आग्रह किया है कि इस मामले की जांच कराएं, क्योंकि अभी तो मैं जिंदा हूं।


नया पेज पुराने