एक सैकड़ा गांव को मलेरिया मुक्त बनाएंगे ग्रामीण मलेरिया स्वयं सेवक / Shivpuri News

शिवपुरी/ जिले को मलेरिया व डेंगू मुक्त बनाने की दिशा में गोदरेज के सहयोग से फेमिली हेल्थ इंडिया व जिला स्वास्थ्य समिति शिवपुरी के संयुक्त तत्वाधान में क्रियान्वित एम्बेड परियोजना के तहत ब्लाॅक खनियाधांना, पिछोर व सतनवाडा  के एक सैकड़ा गाँव को मलेरिया मुक्त गाँव बनाया जाएगा। जिसके तहत विगत एक माह से चयनित ग्रामों से ग्रामीण स्वयं सेवकों को चुनकर उन्हें मलेरिया से बचाव व रोकथाम का प्रशिक्षण आज शुक्रवार को शा.उ.मा.विद्यालय खोड़ में दिया गया। 


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी शिवपुरी डाॅ.ए.एल.शर्मा के मार्गदर्शन में आयोजित इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में ब्लाॅक खनियाधाना, पिछोर व सतनवाड़ा के एक सैकड़ा गाँव से स्वयं सेवकों के साथ जिला मलेरिया अधिकारी लाल जू शाक्य, तकनीकी सुपरवाईजर जगदीश सिह तोमर, जिला समन्वयक एम्बेड परियोजना विजय मिश्रा, ब्लाक मेडिकल ऑफिसर डाॅ. अरुण झासिया, डाॅ. अनुराग तिवारी ने समय-समय पर अपनी सक्रिय सहभागिता निभाई। प्रशिक्षण में स्वयं सेवकों ने कोरोना वाइरस संक्रमण से बचाव की दिशा में शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए मलेरिया से बचाव व रोकथाम का प्रशिक्षण प्राप्त कर अपने-अपने गाँव को मलेरिया मुक्त बनाने की शपथ ली। प्रशिक्षण में गाँव को मलेरिया मुक्त बनाने में स्वयं सेवकों की भूमिका व जिम्मेदारियों पर प्रकाश डालते हुए मलेरिया की जाँच, बचाव, रोकथाम व उपचार के विषय में विस्तार से बताया गया। 


प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी शिवपुरी डाॅ.ए.एल.शर्मा ने बताया कि मलेरिया उन्मूलन के इस रास्ट्रीय कार्यक्रम में जन-जन की व समुदाय की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए ग्रामीण मलेरिया स्वयं सेवकों को प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा हैं, जो गाँव में जाकर ग्राम मलेरिया उन्मूलन समिति का गठन कर जन-जन तक मलेरिया से बचाव व रोकथाम का सन्देश स्वयंसेवी भाव से प्रसारित करेंगे और स्वयं को तथा अपने गाँव को मलेरिया मुक्त बनाने में अर्थात जनहित में अपना अमूल्य सहयोग प्रदान करेंगें।


प्रशिक्षण में स्वयं सेवकों को अपने-अपने गाँव में मलेरिया उन्मूलन समिति के गठन हेतु आवश्यक सामग्री व जानकारी उपलब्ध कराई गई। कार्यक्रम के अंत में जिला मलेरिया अधिकारी व जिला समन्वयक एम्बेड परियोजना द्वारा प्रशिक्षण में पधारे सभी स्वयं सेवकों को उनका पहचान पत्र भेंट कर सम्मानित किया गया।

नया पेज पुराने