आत्मा से परमात्मा का मिलन है ध्यान : योगाचार्य ममता त्रिपाठी / Shivpuri News


मॉ जानकी सेना संगठन के तीन दिवसीय ध्यान, योग प्रशिक्षण शिविर का समापन आज
शिवपुरी- आत्मा का परमात्मा से मिलन ही सही अर्थों में ध्यान करना है और यह तभी संभव है जब मनुष्य एकाग्र मन से ईश्वर का दिव्य आत्मा का ध्यान करें और वह अपने जीवन के सभी नित्य कर्मों को भूल केवल ध्यान पर अपना मन केन्द्रित करें तब मनुष्य ना केवल स्वस्थ रहेगा बल्कि उसकी दिनचर्या में काफी बदलाव भी देखने को मिलेगा, नियमित ध्यान योग करने से अनेकों प्रकार की बीमारियों से भी छुटकारा पाया जा सकता है जिसमें ध्यान के द्वारा अनिद्रा, तनाव, मानसिक थकान, एकाग्रता की कमी, चिड़चिड़ापन, अवसाद, एंजायटी, याददाश्त की कमजोरी, उच्च व निम्न रक्तचाप, मधुमेह आदि रोग जो शारीरिक विकार है वह ध्यान लगाने से दूर हो जाऐंगें, इसलिए नियमित ध्यान और योग जरूर करें ताकि आप हमेशा स्फूर्ति से भरे रहे। यह बात कही इंदौर से आई योगाचार्य श्रीमती ममता त्रिपाठी ने जो स्थानीय स्थानीय झांसी रोड़ स्थित शिवयोग योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र परिसर में समाजसेवी संस्था मॉं जानकी सेना संगठन द्वारा आयोजित तीन दिवसीय ध्यान-योग प्रशिक्षण के द्वितीय दिवस के अवसर पर ध्यान की विभिन्न साधनाओं के बारे में बता रही थी। इस दौरान मॉं जानकी सेना संगठन के अध्यक्ष विक्रम सिंह रावत, महासचिव नरेशप्रताप सिंह बॉबीराजा द्वारा योगाचार्य श्रीमती ममता त्रिपाठी व सहयोगी शिवपुरी शिव योग ध्यान केन्द्र के योगाचाार्य प्रशिक्षक विजय सेन का पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया गया तत्पश्चात सामान्य व्यायाम के साथ योग-ध्यान की क्रियाऐं कराई गई। इस तीन दिवसीय योग ध्यान प्रशिक्षण शिविर का समापन आज 24 दिसम्बर को होगा। इस तीन दिवसीय ध्यान योग प्रशिक्षण शिविर का संचालन योगाचार्य शिवपुरी विजय सेन द्वारा जबकि एक दिवसीय योग शिविर समापन पर अल्पाहार की व्यवस्था योग शिविर आयोजक नरेशप्रताप सिंह बॉबीराजा द्वारा प्रदाय की जा रही है।

नया पेज पुराने