शहर में न हो अवैध कॉलोनी विकसित : मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया / Shivpuri News

मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने की विकास कार्यों की समीक्षा

 

शिवपुरी। प्रदेश की खेल एवं युवा कल्याण, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया शुक्रवार को शिवपुरी भ्रमण पर आयीं। इस दौरान उन्होंने किसान सम्मेलन कार्
यक्रम में भाग लिया। इसके बाद कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में समीक्षा बैठक रखी। जिसमें शहर में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की और उन्होंने समय सीमा में निर्माण कार्यों को पूरा करने के निर्देश दिए हैं।


मंत्री सिंधिया ने शहर विकास को लेकर टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के सहायक संचालक को निर्देश दिए हैं कि शहर विकास के संबंध में नगर पालिका और टाउन एंड कंट्री प्लानिंग दोनों समन्वय से कार्य करें। यह ध्यान रखा जाए कि अवैध कॉलोनी विकसित नहीं होना चाहिए। नई कॉलोनी बनाई जा रही हैं उनके द्वारा आम नागरिकों को क्या-क्या सुविधाएं दी जा रही हैं और टाउन एंड कंट्री प्लानिंग की उसमें क्या भूमिका है उस पर ध्यान दें।

इसी प्रकार मंत्री सिंधिया ने थीम रोड निर्माण कार्य की समीक्षा की और कहा कि थीम रोड का काम गतिशीलता के साथ किया जाए। विद्युत विभाग द्वारा पोल शिफ्टिंग और पीडब्ल्यूडी द्वारा सड़क निर्माण का काम एक साथ चलना चाहिए। इसके लिए अधिकारी आपसी समन्वय से काम करें जिससे काम न रुके। उन्होंने थीम रोड का काम कर रहे ठेकेदार से भी चर्चा की। उन्होंने शहर की साफ सफाई के संबंध में नगर पालिका सीएमओ को निर्देश देते हुए कहा कि शहर में गंदगी नहीं दिखना चाहिए। नगर पालिका सफाई कर्मियों की ड्यूटी लगाये और नियमित सड़कों की सफाई की जाए।


अभियान चलाकर आयुष्मान कार्ड बनाए जाएं

मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को अभियान चलाकर आयुष्मान कार्ड बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि हर वार्ड में कैंप का आयोजन करें, जिसकी सूचना जनप्रतिनिधि अथवा संबंधित क्षेत्र के पार्षद को भी दें।


स्व सहायता समूह की महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाए

मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा है कि स्व सहायता समूह की महिलाएं सक्रिय होकर काम कर रही हैं ।महिलाओं को चिन्हित कर आईटीआई के समन्वय से प्रशिक्षण दिया जाए। जिससे उनका कौशल विकास होगा और महिलाएं स्थानीय स्तर पर ही अच्छे उत्पाद तैयार कर सकती हैं। जिसका उन्हें बाजार से अच्छा मूल्य प्राप्त होगा। इसके लिए महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाए।


नया पेज पुराने