वायदा कारोबारी पुलिस की गिरफ्त से दूर, चार माह बाद भी आरोपितों तक नहीं पहुंच सकी पुलिस / Shivpuri News


शिवपुरी। आज से चार माह पहले पुलिस ने अवैध वायदा व्यापार खेलते हुए एक घर में छापा मारा। इस दौरान पुलिस ने 9 लोगों पर केस दर्ज किया लेकिन गिरफ्तारी सिर्फ एक व्यक्ति की हुई बाकी के 8 आरोपित चार माह से अब भी फरार चल रहे हैं। 
जानकारी के अनुसार चार माह पहले शहर में अवैध रूप से वायदा व्यापार संचालित किए जाने की जानकारी पर पुलिस ने छापामार कार्रवाई अंजाम दे डाली थी जिसमें 1 कारोबारी पुलिस के हत्थे चढ़ गया, जिससे पूछताछ के बाद कई नामी गिरामी शहर के रसूखदारों के नाम सामने आए। इनमें से 9 लोगों के विरुद्ध पुलिस ने कई धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने जिन लोगों के विरुद्ध केस दर्ज किया है, उनमें दीपक पुत्र सूआलाल गर्ग निवासी विजयपुरम कॉलोनी, नितिन गुप्ता निवासी शिवपुरी, कमल राठी गुना, चंचल अग्रवाल, अमित मंगल निवासी निचला बाजार शिवपुरी, राजीव जैन निवासी महल के पीछे शिवपुरी, बंटी निवासी पोहरी चौेराहा शिवपुरी, शीतल जैन निवासी तारकेश्वरी कॉलोनी के नाम शामिल हैं। 

8 आरोपित अब भी पुलिस गिरफ्त से बाहर
अवैध रूप से वायदा व्यापार खेलते हुए पकड़े गए 9 रसूखदार लोगों में से 8 अब भी फरार चल रहे हैं। इन आरोपित पर केस दर्ज हुए चार माह का समय हो गया है लेकिन ये सभी लोग पुलिस गिरफ्त से अभी भी बाहर बने हुए हैं। मामले को लेकर पुलिस की हीलाहवाली सामने आ रही है। 

शहर की विजयपुरम कॉलोनी में चल रहा था वायदा व्यापार
शहर के विजयपुरम कॉलोनी में अवैध रूप से वायदा व्यापार का कारोबार चल रहा था। सूचना पर पुलिस टीम जब मौके पर पहुंची तो दीपक गर्ग के घर विजयपुरम कॉलोनी में वायदा व्यापार चल रहा था। यहां कई लोग खरीद व बिकवाली पर रुपये लगा रहे थे। चैनल गेट से छिपकर देखा तो घर के अंदर 7-8 लोग लैपटॉप व मोबाइल में देखकर डब्बा कारोबार कर रहे हैं। लैपटॉप मोबाइल पर रुपये का दांव लगाकर खरीदी बिक्री कर रहे थे। पुलिस जब घर के अंदर पहुंची तो आरोपित वहां से भाग गए, लेकिन एक व्यक्ति दीपक पुत्र सूवालाल को पुलिस ने धर दबोचा। पुलिस युवक को पकड़कर थाने लाई, जहां पूछताछ की तो उसने सारे नाम बता दिए। इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया।

क्या है वायदा कारोबार
वायदा व्यापार ऑनलाइन कारोबार है। वैसे तो इसके संचालन के लिए लाइसेंस लेना अनिवार्य हैं, लेकिन कई लोग बिना लाइसेंस के ही यह कारोबार संचालित कर रहे हैं। लैपटॉप और मोबाइल के जरिए सोना, चांदी से लेकर गेहूं, चना व अन्य माल की खरीद फरोख्त और बिक्री की जाती है। ऑनलाइन भाव आते हैं। उसे खरीदे और बेचे जाने का सिलसिला मोबाइल और लैपटॉप के माध्यम से किया जाता है। कई बार लोग इस कारोबार में घाटे मे भी जाते हैं तो कई बार मुनाफा भी होता है।

कई कारोबारियों को लग चुका हैं लाखों का घाटा
वायदा कारोबार के चलते शहर के कई व्यापारियों केा लाखों रुपये का घाटा भी हुआ तो वहीं एक पिता पुत्र ने 20 लाख रुपये वायदा कारोबार में गवाने के बाद आत्महत्या कर ली थी। वायदा कारोबार को लेकर पहले भी पुलिस ने कार्रवाई कर कई व्यापारियों के खिलाफ केस भी दर्ज किए थे। बावजूद इसके शहर में कई इलाकों में चोरी छिपे वायदा कारोबार संचालित हो रहा है। शहर के कई रसूखदार इसे संचालित कर रहे हैं।
नया पेज पुराने