ऑनलाइन क्लास से बढ़ेगा शिक्षा का स्तर : डॉ.रामजी दास राठौर / Shivpuri News

उच्च शिक्षा विभाग में कोरोना काल के कारण मध्य प्रदेश उच्च शिक्षा विभाग द्वारा किया गया अभिनव प्रयोग महाविद्यालय के टाइम टेबल के अनुसार ऑनलाइन कक्षा के माध्यम से अध्यापन कराना सराहनीय है. उच्च शिक्षा विभाग द्वारा मध्यप्रदेश के महाविद्यालयों में प्रारंभ की गई ऑनलाइन कक्षाओं का स्वागत करते हुए डॉ रामजी दास राठौर अतिथि विद्वान वाणिज्य ने बताया कि  उच्च शिक्षा व्यवस्था पूर्ण रूप से वेंटिलेटर पर आ चुकी थी जो अब ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से सुधारी जा सकती है. अब सभी शिक्षकों द्वारा अनिवार्य रूप से क्लास ली जाएंगी. इसलिए उच्च शिक्षा में अध्ययनरत समस्त कक्षाओं के विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा व्यवस्था प्राप्त हो सकेगी.इससे पूर्व जब ऑफलाइन कक्षाएं चलती थी, तो अधिकांश शिक्षकों द्वारा अपनी कक्षाएं समय पर विभिन्न कारणों के चलते नहीं ली जाती थीं. छात्र छात्राओं को मजबूरी में अध्यापन कार्य के लिए कोचिंग क्लासेस पर जाना पड़ता था.
अब ऑनलाइन क्लास होने के कारण शिक्षकों द्वारा अनिवार्य रूप से संबंधित विषय की क्लास ली जाएंगी. इस कारण से छात्र छात्राओं को योग्य अनुभवी वरिष्ठ प्राध्यापकों के अनुभवों का लाभ अब ऑनलाइन क्लास के माध्यम से प्राप्त होगा. जो निश्चित रूप से छात्र-छात्राओं के भविष्य निर्माण में मददगार होगा.
ऑनलाइन क्लास सामान्य स्थिति में भी उच्च शिक्षा विभाग मध्यप्रदेश शासन द्वारा लगातार संचालित की जाती रहनी चाहिए. जिससे कि शिक्षक अपने शिक्षण कार्य को अनिवार्य रूप से करते रहें तथा प्रदेश के छात्र छात्राओं  का बेहतर भविष्य निर्माण करते रहें.
छात्र-छात्राओं को भी ऑनलाइन क्लास के संबंध में काफी सजग रहना आवश्यक है. ऑनलाइन क्लास में पढ़ाए गए विषय को घर पर अपनी पुस्तकों के माध्यम से विस्तृत रूप से अध्ययन करें, तो यह प्रक्रिया उनके भविष्य निर्माण में काफी मददगार साबित होगी तथा छात्र-छात्राओं के अभिभावकों को भी यह जानकारी मिलती रहेगी कि उनके बच्चों के शिक्षक उन्हें ऑनलाइन क्लास के माध्यम से जिस विषय  का अध्यापन कार्य करा रहे हैं वह उनके बच्चों के बेहतर भविष्य का निर्माण किस तरीके से करेगा. क्योंकि उच्च शिक्षा विभाग में पढ़ाए गए विषय छात्र छात्राओं की विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं. इस प्रकार उनकी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी इन क्लासों के माध्यम से आसानी से होती रहेगी. ऑनलाइन क्लास प्रारंभ होने से शिक्षकों में भी एक नए उत्साह का संचार हुआ है तथा उन्हें अपने विषय में अध्यापन कार्य कराना काफी रोचक महसूस हो रहा है कि वह भी समय के साथ तकनीकी सुविधाओं का प्रयोग करते हुए विद्यार्थियों को अध्यापन कार्य में मदद कर पा रहे हैं.
नया पेज पुराने