शाजापुर जिले की न्यायालय की सभी खबरों को देखने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें


 दिनांक – 04/09/2020   


मोबाईल चोरी के आरोपी का जमानत आवेदन निरस्‍त

शाजापुर। जिला मीडिया प्रभारी सचिन रायकवार एडीपीओ शाजापुर ने बताया कि, न्यायालय जेएमएफसी  शुजालपुर द्वारा आरोपी मनोज पिता गोपालसिंह मेवाडा उम्र 27 वर्ष निवासी केशरीयापुरा भीलखेडी शुजालपुर मंडी का जमानत आवेदन पत्र निरस्‍त किया गया।

श्री संजय मोरे अति.डीपीओ शुजालपुर द्वारा प्रदत्‍त जानकारी अनुसार फरियादी  जीतमल दिनांक 01/09/2020 को करीब 2 बजे इंडियन बैंक ब्रज नगर चौराहा शुजालपुर मंडी मे रूपये जमा कराने गया था। फरियादी ने जमा पर्ची भरी और अपना सेमसंग कम्‍पनी का मोबाईल जिसमे 2 सीम आईडिया और जियो कम्‍पनी की लगी थी, जमा पर्ची भरने वाली टेबल पर रखकर रूपये जमा कराने काउण्‍टर पर चला गया। वापस आकर देखा तो उसका मोबाईल नही मिला। बैंक मे अधिक भीड होने से मोबाईल की जानकारी नही मिली। दुसरे दिन बैंक मे लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकार्डिंग देखी तो आरोपी मनोज मोबाईल चोरी करके ले गया था। जिसकी रिपोर्ट फरियादी ने थाना शुजालपुर मंडी पर की थी। आरोपी को गिरफतार कर दिनांक 03/09/2020 को न्‍यायालय में  प्रस्‍तुत किया गया। न्‍यायालय द्वारा आरोपी का जमानत आवेदन पत्र निरस्‍त किया गया।

जिला मीडिया प्रभारी
सचिन रायकवार
एडीपीओ शाजापुर
दिनांक 04  सितम्‍बर 2020


नाबालिक को बहला फुसला कर ले जाने व दुष्कर्म करने वाले आरोपी का जमानत आवेदन  निरस्त
 शाजापुर। देवेन्द्र मीना डीपीओ शाजापुर ने बताया कि, न्यायालय विशेष न्यायाधीश लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 एवं द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश शाजापुर द्वारा नाबालिक को बहला फुसला कर ले जाने व दुष्कर्म करने वाले आरोपी  ओमप्रकाश पिता हरिनारायण झावा उम्र 21 वर्ष निवासी वार्ड नंबर-15, आवास कालोनी, जीरापुर जिला राजगढ़ का जमानत आवेदन पत्र निरस्त किया गया।
        आरोपी पीडिता को बहला फुसलाकर भगा कर ले गया था। जिसकी रिपोर्ट फरियादी ने थाना मो0 बडोदिया पर दिनांक 21 जून 2020 को दर्ज करायी थी।
राज्य की ओर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विशेष लोक अभियोजक श्री देवेंद्र मीना द्वारा जमानत आवेदन पत्र का विरोध किया गया।

जिला मीडिया प्रभारी
सचिन रायकवार
एडीपीओ शाजापुर
दिनांक 04 सितम्बर 2020


दुष्कर्म के आरोपी की सहायता करने वाले आरोपीगण को भेजा जेल

शाजापुर। सहायक जिला मीडिया प्रभारी रमेश सोलंकी अति. डीपीओ शाजापुर ने बताया कि, न्यायालय विशेष न्यायाधीश लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 एवं द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश शाजापुर द्वारा नाबालिक पीडिता का परिचित होते हुये दुष्कर्म करने वाले आरोपी सीताराम का सहयोग करने वाले आरोपीगण युवराज पिता सीताराम उम्र 19 वर्ष व देवबाई पति सीताराम उम्र 35 साल जाति बलाई निवासी ग्राम सखेडी थाना सुन्दरसी को जेल वारंट बनाकर जिला जेल शाजापुर भेजा गया।
पीडिता ने थाना सुन्द‍रसी पर रिपोर्ट लिखाई थी। विवेचना के दौरान आरोपीगण युवराज व देवबाई को गिरफ्तार कर आज दिनांक 04.09.2020 को न्यायालय में पेश किया गया था।

जिला मीडिया प्रभारी
सचिन रायकवार
एडीपीओ शाजापुर
 दिनांक 04 सितम्बर 2020

अमानत में ख्यानत करने वाले आरोपी का जमानत आवेदन निरस्त

शाजापुर। जिला मिडिया प्रभारी सचिन रायकवार एडीपीओ शाजापुर ने बताया कि, न्यायालय जेएमएफसी शाजापुर श्री महेश कुमार माली द्वारा आरोपी  माधव सिंह पिता भैरूसिंह गुर्जर निवासी ग्राम माला खेडी थाना मो0 बडोदिया तहसील शाजापुर का जमानत आवेदन पत्र निरस्त किया गया । 
अजय शंकर , एडीपीओ शाजापुर द्वारा प्रदत्त जानकारी अनुसार आरोपी के विरूद्ध दिनांक 25.03.2013 को जारी कुर्की वारंट के पालन में आरोपी से पंचनामे अनुसार दो लोहे की बिस्तर पेटी जिनकी कीमत करीब 6000 रूपये थी, जप्त कर आरोपी को न्यांयालय में पेश करने हेतू सुपुर्दगी पर दी गई थी। उक्त दो लोहे की बिस्तर पेटी आरोपी द्वारा न्यायालय में प्रस्तुत नहीं की गई। आरोपी को धारा 406 भादवि का कारण बताओ सूचना पत्र जारी किये जाने के पश्चा्त भी वह ना तो उपस्थित हुआ और ना ही माल प्रस्तुत किया। आरोपी के द्वारा उसे न्यस्त  की गई संपत्ति को न्यायालय में प्रस्तुत नहीं किया गया होने से उसने अमानत में ख्यानत कर अपराधिक न्यास भंग का अपराध किया। जिस पर  न्यायालय द्वारा आरोपी के विरूद्ध धारा 406 भादवि का अपराध पंजीबद्ध करने हेतू पत्र थाना प्रभारी थाना लालाघाटी शाजापुर को जारी किया गया। उक्त पत्र के आधार पर आरोपी के विरूद्ध थाने पर अपराध कायम किया जाकर उसे विवेचना के दौरान गिरफ्तार कर न्याायालय में पेश किया गया था। अभियोजन की ओर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्य्म से  अजयशंकर एडीपीओ शाजापुर द्वारा जमानत आवेदन पत्र का विरोध किया गया। 

जिला मीडिया प्रभारी
सचिन रायकवार
एडीपीओ शाजापुर
 दिनांक – 04/09/2020   


गोवंश को क्रुरतापुर्वक परिवहन करने वाले आरोपी का पुलिस रिमाण्‍ड स्‍वीकार

शाजापुर। जिला मीडिया प्रभारी  सचिन रायकवार एडीपीओ शाजापुर ने बताया कि , न्यायालय जेएमएफसी  शुजालपुर श्री धीरज कुमार शल् द्वारा आरोपी मोहित पिता कैलाश मालवीय उम्र 19 वर्ष निवासी अलिसर खेडा थाना सलसलाई का  दिनांक 05/09/2020 तक पुलिस रिमाण्‍ड स्‍वीकार किया गया।

श्री संजय मोरे अति.डीपीओ शुजालपुर द्वारा प्रदत्‍त जानकारी अनुसार दिनांक 04/09/2020 को शुजालपुर सिटी पर थाना प्रभारी टी.आर. पटेल को मुखबिर द्वारा सुचना मिली की पचोर तरफ से एक सफेद पिकअप में गाय के केडो को अवैध रूप से ठुस ठुसकर क्रुरतापूर्वक भरकर वध करने के लिए महाराष्‍ट्र ले जा रहे है।  थाना प्रभारी  राहगीर पंचान को तलब कर मय फोर्स् को हमराह लेकर पचोर रोड उगली जोड शुजालपुर पहुंचे । वहां पर एक लोडिंग पिकअप पचोर तरफ से आई उसमे एक ड्रायवर और एक लडका बैठा था। पिकअप को चेक करते हुए दोनो लडके पिकअप से उतरकर जंगल में भागने लगे । तभी एक लडके को फोर्स की मदद से पकडा तथा पिकअप का ड्रायवर भाग गया। पिकअप के अंदर गाय के केडे 9 नग क्रुरतापूर्वक ठुस ठुसकर भरे गये थे । उक्‍त लडके ने अपना नाम मोहित होना बताया तथा भागने वाला चालक का नाम इरसाद खॉ निवासी पटेल वाडी सारंगपुर का होना बताया। आरोपी मोहित ने बताया की उक्‍त कैडे ब्‍यावरा के आगे जंगल मे से पकडकर रस्‍सीयो से बांधकर गाडी मे भरकर वध करने के लिए धुलिया ले जा रहे थे । मौके पर एएसआई आर.सी. धनगर द्वारा आरेापी मोहित से गाय के कैडे और पिकअप वाहन जप्‍त कर जप्‍ती पंचनामा बनाया तथा आरोपी को गिरफतार कर थाने लाये। थाने पर अपराध कायम कर आरोपी को  न्‍यायालय में प्रस्‍तुत किया गया। न्‍यायालय द्वारा आरोपी का दिनांक 05/09/2020 तक का पुलिस रिमाण्‍ड स्‍वीकार किया गया।

जिला मीडिया प्रभारी
सचिन रायकवार
एडीपीओ शाजापुर

दिनांक 4 सितंबर 2020


म.प्र. लोक अभियोजन ने आयोजित किया दो दिवसीय राष्‍ट्रीय वेबिनार

महिलाओं के विरूद्ध होने वाले अत्‍याचार एवं अपराध सभ्‍य समाज के समक्ष गंभीर चुनौती हैं- श्री पुरूषोत्‍तम शर्मा




शाजापुर। जिला मीडिया प्रभारी सचिन रायकवार एडीपीओ शाजापुर ने बताया कि, मध्‍य प्रदेश लोक अभियोजन विभाग द्वारा दो दिवसीय वेबिनार ''महिलाओं के विरूद्ध हो रहे अपराधों के सामाजिक एवं विधिक परिपेक्ष्‍य'' विषय पर आयोजित किया गया है। जिसका शुभारंभ आज दिनांक 04/09/2020 को श्री पुरूषोत्‍तम शर्मा, महानिदेशक/संचालक म.प्र. लोक अभियोजन द्वारा किया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में श्री प्रशांत माली, प्रेसीडेन्‍ट सायबर लॉ बाम्‍बे, सुश्री सुमन श्रीवास्‍तव, अपर जिला एवं सत्र न्‍यायाधीश, खुरई, सागर (म.प्र.), श्री सत्‍यप्रकाश, मैनेजर-प्रोग्राम FXB इंडिया सुरक्षा, दिल्‍ली एवं प्रो. आशा शुक्‍ला, वाईस चान्‍सलर, डॉ. बी.आर. अम्‍बेडकर, विश्‍वविद्यालय, महू (म.प्र.) के द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है।
श्री पुरूषोत्‍तम शर्मा, महानिदेशक/संचालक म.प्र. लोक अभियोजन ने अपने उद्बोधन में महिलाओं के विरूद्ध हो रहे अत्‍याचारों एवं अपराधों पर चिंतित होते हुए कहा कि महिलाओं पर होने वाले लैंगिक भेद-भाव एवं लैंगिक आधार पर होने वाले अपराध सभ्‍य समाज के समक्ष एक गंभीर चुनौती हैं। उन्‍होंने कहा कि महिलाओं के विरूद्ध अत्‍याचार मॉं के गर्भ में आते ही प्रारम्‍भ हो जाते हैं जैसे- कन्‍या भ्रूण हत्‍या  तथा अन्‍य अपराध जैंसे- दहेज प्रताड़ना, छेड़-छाड़, वैश्‍यावृत्ति कराना, बलात्‍कार, कार्यक्षेत्र में यौन उत्‍पीड़न, ऐसिड अटैक जैसी घटनाऐं महिलाओं के विरूद्ध होती हैं। 
वर्तमान में मध्‍य प्रदेश में लगभग 45000 मामले महिला अपराध के संबंध में पेण्डिंग हैं। जिसमें रेप एवं दहेज हत्‍या जैंसे गंभीर अपराधों की संख्‍या सेशन न्‍यायालय में 7000 है तथा सजा का प्रतिशत् बहुत कम है। महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों की वृद्धि चिंतित करने वाली है। जिन पर नियंत्रण का प्रभावी तरीका ऐसे अपराधियों को न्‍यायालय के माध्‍यम से कठोर दण्‍ड दिलाना है। 
महिला अपराध से संबंधित मामलों की पैरवी प्रभावी ढंग से करने एवं उनपर निगरानी रखने हेतु मेरे द्वारा श्रीमती मनीषा पटेल, विशेष लोक अभियोजक को स्‍टेट कोऑर्डिनेटर के रूप में नियुक्‍त किया गया है। मुझे आशा है कि श्रीमती पटेल के कुशल नेतृत्‍व में महिला अपराध कारित करने वाले अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा करायी जावेगी। 
श्रीमती मोसमी तिवारी, प्रमुख जनसंपर्क अधिकारी, लोक अभियोजन म.प्र. द्वारा बताया गया कि प्रशिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा श्रीमती मनीषा पटेल, राज्‍य समन्‍वयक महिला अपराध के द्वारा तैयार की गई तथा कार्यक्रम का संचालन भी किया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में देशभर से लोक अभियोजन अधिकारी सम्मिलित होकर प्रशिक्षण प्राप्‍त कर रहे हैं। 
प्रशिक्षण के प्रथम दिवस आज दिनांक 04/09/2020 को श्री प्रशांत माली, सायबर एक्‍सपर्ट, प्रेसी‍डेन्‍ट सायबर लॉ बाम्‍बे, द्वारा "Relevance of Electronic Evidence in Crime Against Women''  विषय पर व्‍याख्‍यान दिया गया। उन्‍होंने इलेक्‍ट्रॉनिक साक्ष्‍य के बारे में विस्‍तार से चर्चा की। उनके द्वारा बताया गया कि इलेक्‍ट्रॉनिक साक्ष्‍य क्‍या होती है? उसकी उपयोगिता क्‍या है? किस तरह इलेक्‍ट्रॉनिक साक्ष्‍य न्‍यायालय में ग्राह्य होती है? इस संबंध में उन्‍होंने भारतीय साक्ष्‍य अधिनियम, 1872, सूचना प्रौ‍द्योगिकी अधिनियम, 2000 के प्रावधानों पर प्रकाश डाला तथा माननीय उच्‍चतम न्‍यायालय एवं माननीय उच्‍च न्‍यायालय द्वारा पारित किये गये निर्णय भी बताये गये। व्‍याख्‍यान पश्‍चात् उनके द्वारा प्रशिक्षुओं के प्रश्‍नों के उत्‍तर भी दिये गये। 
सुश्री सुमन श्रीवास्‍तव, अपर जिला एवं सत्र न्‍यायाधीन, खुरई, सागर द्वारा "Investigation E-Trial Regarding Crime Against Women E-Child" विषय पर व्‍याख्‍यान दिया गया। उनके द्वारा बताया गया कि महिला संबंधी अपराधों का अन्‍वेषण किस तरह किया जाना चाहिए तथा अन्‍वेषण के दौरान किन बातों का ध्‍यान रखा जाना चाहिए साथ ही यह भी बताया कि क्‍या त्रुटियॉं नहीं करना चाहिए, जिससे आरोपी को सख्‍त से सख्‍त सजा दिलाई जा सके। उनके द्वारा ऐसे अपराधों के विचारण के संबंध में भी प्रशिक्षण दिया गया कि महिला संबंधी अपराधों के अभियोजन में किन बातों का विशेष ध्‍यान रखा जाना चाहिए जिससे अपराधी को कठोर दण्‍ड दिया जा सके। व्‍याख्‍यान पश्‍चात् उनके द्वारा प्रशिक्षुओं के प्रश्‍नों के उत्‍तर भी दिये गये।
प्रशिक्षण उपरान्‍त श्री राजेन्‍द्र उपाध्‍याय, डीपीओ, भोपाल द्वारा आभार प्रकट किया गया। साथ ही उन्‍होंने इस प्रशिक्ष्‍ाण कार्यक्रम को आयोजित करने के लिए श्री पुरूषोत्‍तम शर्मा, महानिदेशक/संचालक म.प्र. लोक अभियोजन एवं श्री पवन श्रीवास्‍तव संचालक, सीएपीटी भोपाल का धन्‍यवाद् अर्पित किया गया कि उन्‍हीं के मार्गदर्शन में यह प्रशिक्ष्‍ाण कार्यक्रम संभव हो सका।  उक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिला शाजापुर से सचिन रायकवार एडीपीओ, सुश्री सुषमा पानिक एडीपीओ , आदि अभियोजन अधिकारी ने भाग लिया।
जिला मीडिया प्रभारी
सचिन रायकवार
एडीपीओ शाजापुर
नया पेज पुराने