बीस रुपये में कच्ची शराव की पुच्ची खुले आम बेच रहे नाबालिक | Khaniyadhana News

जानकारी के बाबजूद भी कार्यवाही नही कर रहा पुलिस और आबकारी विभाग

20 रुपये की 1 पुच्ची बिक रही लाईन लग कर पता होने के बाबजूद भी  पुलिस व आबकारी विभाग आंख पर पट्टी बांधे बैठा हुआ है

छोटे छोटे बच्चे और युवा सुबह से ही हो जाते है लाइन लगा कर पुच्ची खरीदने को तैयार 

खनियाधाना शिवकांत सोनी।  शिवपुरी जिले के खनियाधाना व आस पास के क्षेत्र में इन दिनों कच्ची अबैध शराब का धंधा जोरो पर है खनियाधाना व आस पास के क्षेत्र में के मजरा टोलो पर अबैध रूप से कच्ची शराब का धंधा बीच रोड पर बैठ कर जोरो पर चल रहा है खनियाधाना में पिछले 2 वर्षो से आस पास के इलाको में कच्ची शराब का धंधा चर्म शीमा पर है  इस काले अबैध धंधे को देखने बाला खनियाधाना में कोई भी पुलिस व आबकारी अधिकारी दिखाई नही दे रहा है खनियाधाना व आस पास के इलाको में बीच रोड पर बैठ कर लाईन लगा कर 20 रुपये की एक पुच्ची थैली बेचीं जा रही है अगर हम बात करें बिक्री की तो खनियाधाना सहित आसपास के इलाको में 24 घंटे में करीब 2 लाख रुपये की कच्ची शराब बेचीं जा रही है और खनियाधाना पुलिस व आबकारी विभाग को पता होते हुये भी कार्यवाही क्यों नही होती इसकी क्या बजह है यह तो खनियाधाना के थाना प्रभारी व आबकारी अधिकारी ही बता सकते है खनियाधाना सहित आसपास के इलाको में जिस हिसाब से कच्ची शराब खनियाधाना के इलाको में बिक रही है बो सायद शिवपुरी जिले में कहि नही बिक रही होगी  पर खनियाधाना सहित आसपास के इलाको में कच्ची शराब का लाखो का अबैध काला खेल खेला जा रहा है और यह खेल नाबालिक बच्चों को बिठा कर अबैध काला धंधा चलाया जा रहा है जब इन बच्चों से हमारी टीम ने बात की तो नाबालिक बच्चों का कहना रहा की हमारे लिये हमारे माँ बाप सुबह से ही कच्ची शराब बेचने को भेज देते है ओर कहते है कि कोई पुलिस बाला पकड़ने नही आएगा हमारी बात है  बच्चों के हिसाब से तो यह प्रतीत होता है कि आबकारी विभाग व पुलिस बिभाग की सांठ गांठ से यह काला अबैध कच्ची शराब का धंधा चल रहा है हर जगह अबैध शराब की मुहिम छेड़ कर इस पर बेन लगाया जा रहा है पर खनियाधाना के इलाको में इसको बढ़ाबा दिया जा रहा है इसमें पुलिस और आबकारी विभाग लिप्त नजर आने लगा है अब तो कच्ची शराब माफियाओं ने आज कल नया तरीखा निकाल लिया है पहले तो शराब माफिया खुद बैठ कर कच्ची शराब बेचते थे पर अब तो इस शराव माफियाओ ने नया  तरीखा निकाल कर अब खुद घरो में दुबक के बैठे रहते है और अपने नाबालिग बच्चों को बीच रोड पर खुले में खुले आम कच्ची शराब की 20 रुपये में 1 पुच्ची बेचीं जा रही है और कच्ची शराब का अबैध धंधा जोरो पर चल रहा है और जान बुझ कर खनियाधाना थाना प्रभारी व आबकारी विभाग बेखबर है गांव बालो से बात करने पर गांव बालो का कहना है की हमारे गांव के युवा व नाबालिक बच्चों में शराब की लत लग गई है और  कच्ची शराब पीकर घर लड़ाई छगड़ा व मारने मरने पर आ जाते है इसका कारण खनियाधाना व आस पास के क्षेत्र  में बिक रही अबैध शराब है
नया पेज पुराने